Tuesday, January 18, 2022
HomeAssembly Election 2022Assembly Election 2022: विस चुनाव निकट आते-आते पांचों राज्यों में तेजी...

Assembly Election 2022: विस चुनाव निकट आते-आते पांचों राज्यों में तेजी से फैल रहा कोरोना

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
Assembly Election 2022:
पांच राज्यों में (10 फरवरी से सात मार्च) तक होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का बिगुल बज चुका है। चुनाव निकट आते-आते कोरोना वायरस भी तेजी से अपने पैर पसार रहा है। यूपी, पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में एक्टिव केस की संख्या में तेजी देखी जा रही है। इसके चलते फरवरी में होने वाले चुनाव के लिए (Election Board) चुनाव आयोग ने रैलियों को लेकर कई तरह की सख्त पाबंदियां लगाई हैं। आइए जानते हैं इन राज्यों के मौजूदा कोरोना के हालात क्या हैं। ( The Situation In Five States Is Dangerous)

हालांकि, कई विशेषज्ञों का कहना है कि हमें महामारी के साथ ही चुनाव में जाना होगा। वायरोलॉजिस्ट डॉ. चंद्रकांत लहरिया कहते हैं कि हम दो वर्ष से महामारी के साथ रह रहे हैं। साथ ही भविष्य का भी कुछ पता नहीं है। ऐसे में हम कब तक इन चीजों से दूर भागेंगे। ऐसे में हम चुनावों को टाल नहीं सकते हैं। हमारे सामने इस कोरोना महामारी के दौरान स्कूल खोलने और बंद करने का बड़ा ही खराब अनुभव रहा है। इसलिए हमें महामारी में चुनावों के साथ ही आगे बढ़ना होगा। (Five States, Corona Is Also Spreading Rapidly )

Assembly Election 2022

यूपी: बीते एक हफ्ते में एक्टिव केस 20 गुना तक बढ़ चुके हैं। दो जनवरी को कोरोना के एक्टिव केस 1725 थे। जबकि 10 जनवरी को यह बढ़कर 33,946 हो गया। हालांकि, इन्फेक्शन रेट में कमी थोड़ा सुकून देनी वाली है। राज्य में इन्फेक्शन रेट 4.13 फीसदी ही है। वहीं दूसरी चिंता की बात वैक्सीनेशन की रफ्तार को लेकर है। राज्य में अभी तक सिर्फ 53 फीसदी आबादी को ही दोनों डोज लगी है।

उत्तराखंड: कोरोना के एक्टिव केस में तेजी जारी है। एक हफ्ते में ही यहां एक्टिव केस में 10 गुना की बढ़ोतरी हुई है। दो जनवरी को एक्टिव केस 506 थे जो 10 जनवरी को बढ़कर 5009 हो गए। यह स्थिति तब है जब राज्य में 85 फीसदी से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी है। जबकि राज्य में इन्फेक्शन रेट 7.57 फीसदी है।

पंजाब: विधानसभा चुनाव के ऐलान के बीच पंजाब में कोरोना के एक्टिव केस में बेतहाशा बढ़ोतरी देखने को मिली है। पिछले सात दिनों में यहां एक्टिव केस में 14 गुना से ज्यादा की बढ़ोतरी हो चुकी है। राज्य में दो जनवरी को 1369 एक्टिव केस थे। वहीं 10 जनवरी को यह संख्या बढ़कर 19,379 हो गई। इस दौरान आक्सीजन सपोर्ट पर जाने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ी है। शुरुआत में 33 लोग आक्सीजन सपोर्ट पर थे जबकि अब यह संख्या 254 हो गई है। कोरोना के दस मरीज वेंटिलेटर पर भी हैं। इन्फेक्शन रेट में भी तेजी से इजाफा हुआ है। राज्य में इन्फेक्शन रेट भी अब बढ़कर 23.72 फीसदी हो गया है।

Assembly Election 2022

मणिपुर : अन्य चार राज्यों के मुकाबले कोरोना के मामले काबू में हैं। कम वैक्सीनेशन के बावजूद यहां इन्फेक्शन रेट सिर्फ 4.14 फीसदी है। वहीं एक्टिव केस की संख्या में भी एक हफ्ते में मात्र दो गुना की बढ़ोतरी देखने को मिली है। दो जनवरी को राज्य में मात्र 215 एक्टिव केस थे जो 10 जनवरी को 438 हो गए हैं।

गोवा: गोवा में कोरोना इन्फेक्शन रेट चिंताजनक स्तर से काफी ज्यादा है। जिससे यहां संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है। राज्य में अभी इन्फेक्शन रेट 27.38 फीसदी है। राष्ट्रीय औसत से ज्यादा वैक्सीनेशन से होने से राज्य में अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या अभी भी कम है। पांच चुनावी राज्यों में गोवा कम्पलीट वैक्सीनेशन के मामले में सबसे आगे है। यहां अब तक 96 फीसदी वयस्क आबादी को टीके की दोनों डोज लग चुकी है।

Also Read : Relief In Covid Cases घटी रफ्तार, कल से 11,660 कम नए मामले, करीब 70 हजार मरीज ठीक हुए

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE