Wednesday, May 25, 2022
HomeBusinessAdani Group इस कंपनी का करेगा 100 फीसदी अधिग्रहण, बन जाएगा विश्व...

Adani Group इस कंपनी का करेगा 100 फीसदी अधिग्रहण, बन जाएगा विश्व का सबसे बड़ा मरीन आपरेटर

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
(Adani Group) अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन्स (APSEZ) लिमिटेड की अनुषंगी अडाणी हार्बर सर्विसेस ने थर्ड पार्टी समुद्री सेवा देने वाली कंपनी ओशन स्पार्कल लिमिटेड (OSL) के 100 फीसदी अधिग्रहण के लिए करार किया है। कंपनी ने कहा है कि इस निवेश से उसे मरीन सर्विस सेगमेंट (Marine Service Segment) में अपनी गतिविधियां बढ़ाने में मदद मिलेगी।

एक रिपोर्ट के मुताबिक अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड ने ओशन स्पार्कल लिमिटेड (OSL) को 1,530 करोड़ रुपए में खरीदा है। इस लेन-देन के एक महीने में पूरा होने की उम्मीद है।

बता दें कि गौतम अडाणी (Gautom Adani) विश्व के छठे सबसे अमीर शख्स है। उनके नेतृत्व में ही पीएसईजेड अब ओशन स्पार्कल लिमिटेड को खरीदने जा रही है। ओशन स्पार्कल लिमिटेड भारत में मरीन सर्विस उपलब्ध कराने वाली सबसे बड़ी कंपनी है। गौतम अडाणी के इस कदम से अडाणी समूह में विश्व का सबसे बड़ा मरीन आपरेटर बनने की क्षमता हो जाएगी।

75 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 1,135 करोड़ रुपए का भुगतान

कंपनी ने आज शुक्रवार को शेयर बाजार दी जानकारी में बताया है कि OSL में गौतम अडानी की अगुवाई वाली कंपनी 75.69 प्रतिशत हिस्सेदारी के प्रत्यक्ष अधिग्रहण के लिए 1,135.30 करोड़ रुपए का भुगतान करेगी। इसके साथ ही 24.31 प्रतिशत हिस्सेदारी के अप्रत्यक्ष अधिग्रहण के लिए 394.87 करोड़ रुपये का भुगतान करेगी।

5 साल में व्यवसाय डबल होने का अनुमान

वह इस बारे में APSEZ के मुख्य कार्यपालक अधिकारी और पूर्णकालिक निदेशक करण अडाणी ने भी इस करार को लेकर जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि दोनों कंपनियों के तालमेल को देखकर कहा जा सकता है कि समेकित व्यवसाय बेहतर मुनाफे के साथ 5 वर्षों में दोगुना होने की संभावना है। इसका लाभ अडाणी पोर्ट्स के शेयरधारकों को मिलेगा।

107 पोत है ओएसएल के

बताया गया है कि ओएसएल का उद्यम मूल्य 1,700 करोड़ रुपये है और ये स्वयं के 94 पोतों और तृतीय पक्ष स्वामित्व वाले 13 पोतों के साथ बाजार की अगुआई करता है। ओएसएल कंपनी की स्थापना 1995 में समुद्री टेक्नोक्रेट्स के ग्रुप ने की थी। इस दौरान पी जयराज कुमार अध्यक्ष और एमडी थे, जो ओएसएल बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में बने रहेंगे।

यह भी पढ़ें : रूस में अपना कारोबार बंद करेगी Tata Steel

यह भी पढ़ें : शेयर बाजार में जोरदार गिरावट, सेंसेक्स 550 अंक टूटा

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular