Thursday, May 26, 2022
HomeBusinessनीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने दिया इस्तीफा, जानिए किसी...

नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने दिया इस्तीफा, जानिए किसी मिली जिम्मेदारी

नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार (Rajiv Kumar) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। डा. राजीव कुमार लगभग 5 साल तक इस पद पर आसीन थे। डॉ. सुमन के बेरी ( Dr. Suman K Berry) को नीति आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार (Rajiv Kumar) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। डा. राजीव कुमार लगभग 5 साल तक इस पद पर आसीन थे। 70 वर्षीय डॉ राजीव कुमार के इस्तीफा देने के बाद डॉ. सुमन के बेरी ( Dr. Suman K Berry) को नीति आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। सुमन के बेरी 1 मई से नीति आयोग के उपाध्यक्ष का कार्यभार संभालेंगे। उन्हें तत्काल प्रभाव से 30 अप्रैल 2022 तक नीति आयोग का सदस्य बनाया गया है।

अरविंद पनगढ़िया थे नीति आयोग के पहले उपाध्यक्ष

बताते चले कि राजीव कुमार (Rajiv Kumar) नीति आयोग के दूसरे उपाध्यक्ष थे। मोदी सरकार जब पहली बार 2014 में सत्ता में आई थी तो सरकार ने योजना आयोग का नाम बदलकर नीति आयोग कर दिया था। इसके बाद नीति आयोग के पहले उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया को बनाया गया था। वहीं जाने-माने अर्थशास्त्री राजीव कुमार ने अगस्त 2017 में नीति आयोग के उपाध्यक्ष का पदभार संभाला था।

फिक्की के महासचिव रह चुके हैं राजीव कुमार

राजीव कुमार (Rajiv Kumar) इससे पहले फिक्की के महासचिव थे। उन्होंने 1995 से 2005 के दौरान एशियन डेवलपमेंट बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में काम किया। 1992 से 1995 के दौरान वह वित्त मंत्रालय के आर्थिक सलाहकार भी रहे। राजीव कुमार ने लखनऊ यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में पीएचडी और आॅक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से डीफिल किया है।

सुमन बेरी कौन हैं?

नीति आयोग के नवनियुक्त उपाध्यक्ष सुमन बेरी ( Dr. Suman K Berry) भी प्रसिद्ध अर्थशास्त्री हैं। सुमन बेरी ने आॅक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन और प्रिंसंटन यूनिवर्सिटी से मास्टर की डिग्री ली है। वे नई दिल्ली स्थित नेशनल काउंसिल आॅफ अप्लायड इकोनॉमिक रिसर्च के 2001 से 2011 तक पूर्व डायरेक्टर जनरल भी रह चुके हैं। इसके अलावा वे वर्ल्ड बैंक के चीफ इकोनॉमिस्ट रह चुके हैं।

इस समय बेल्जियम की राजधानी ब्रूसेल्स में एक इकनॉमिक थिंकटैंक के नॉन रेजिडेंट फेलो के पद पर है। सुमन बेरी ने अपने करियर की शुरूआत वर्ल्ड बैंक के साथ की थी। यहां उन्होंने करीब 28 साल तक सेवाएं दी और उसके चीफ इकोनॉमिस्ट बने।

क्या काम होता है नीति आयोग का?

2014 में पहली बार सत्ता में आई मोदी सरकार ने योजना आयोग का नाम बदलकर नीति आयोग कर दिया था। नीति आयोग देश के लिए प्रमुख नीति के निर्धारण का काम करती है। नीति आयोग के अध्यक्ष प्रधानमंत्री होते हैं।

यह भी पढ़ें : रूस में अपना कारोबार बंद करेगी Tata Steel

यह भी पढ़ें : बैंकिंग शेयरों से बाजार पर बना दबाव, सेंसेक्स 714 अंक गिरकर 57,197 पर बंद

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular