Thursday, May 19, 2022
HomeBusinessभारत में आडी, Mercedes और BMW जैसी लग्जरी कारों की मांग में...

भारत में आडी, Mercedes और BMW जैसी लग्जरी कारों की मांग में उछाल, इतने महीने करना पड़ रहा इंतजार

भारत में पिछले कुछ समय से आडी (Audi), मर्सिडीज बेंज (Mercedes Benz) और बीएमडब्ल्यू (BMW) जैसी लग्जरी कार कंपनियों के महंगे मॉडलों की मांग में तेजी आई है। इस कारण इन लग्जरी कारों के लिए वेटिंग पीरयड बढ़ गया है।

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
भारत में पिछले कुछ समय से आडी (Audi), मर्सिडीज बेंज (Mercedes Benz) और बीएमडब्ल्यू (BMW) जैसी लग्जरी कार कंपनियों के महंगे मॉडलों की मांग में तेजी आई है। इस कारण इन लग्जरी कारों के लिए वेटिंग पीरयड बढ़ गया है। पहले इनके लिए इंतजार की अवधि एक से दो महीने होती थी लेकिन अब आपूर्ति अड़चनों के कारण वेटिंग पीरियड बढ़कर 4 से 6 महीने हो गई है।

यह जानकारी इन कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों ने दी है। आडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लों (Balbir Singh Dhillon) ने बताया कि पिछले कुछ महीनों से आडी की सी और डी ग्रेड यानि कि जिन माडलों के दाम 70 से 75 लाख रुपए है, की मांग में तेजी से उछाल आया है।

बलबीर सिंह ढिल्लों ने ने बताया कि ऐसी कारों को खरीदने क लिए बड़े व्यापारी, खिलाड़ी और कई बालीवुड सेलेब्स आगे आ रहे हैं। उन्होंने आॅडी इलेक्ट्रिक ई-ट्रॉन का उदाहरण देते हुए ढिल्लों ने बताया कि इस कार की कीमत एक करोड़ रुपए से अधिक हैं। इसके बावजूद भारत आने से पहले ही इन कारों की सेल हो जाती है। इन कारों का वेटिंग पीरियड आपूर्ति अड़चनों की वजह से बढ़ी है।

वैश्विक स्तर पर भी मांग में तेजी

Mercedes
Logo

वहीं मर्सिडीज बेंज (Mercedes Benz) इंडिया के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) मार्टिन श्वेंक ने कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि कुछ कारों को हम ग्राहकों को महीनों बाद भेज पाते हैं। खासकर जीएलएस और जीएलई (एसयूवी) जैसी कारों को भी। इन कारों के साथ न केवल आपूर्ति पक्ष की दिक्कत होती है, बल्कि वैश्विक स्तर पर इनकी मांग भी काफी ऊंची है। ऐसे में हमें प्राथमिकता तय करनी पड़ती है।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2022 की पहली तिमाही में कंपनी के पास 4,000 से अधिक इकाइयों का आॅर्डर था। मर्सिडीज बेंज इंडिया ने 2021 में भारत में एक करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की 2,000 से अधिक इकाइयों की बिक्री की। इनमें एस-क्लास मेबैक, जीएलएस मेबैक और टॉप-एंड एएमजी शामिल हैं। कंपनी की कुल सालाना बिक्री में 30 प्रतिशत हिस्सा एस-क्लास और जीएलएस एसयूवी का है।

एसएवी खंड में बीएमडब्ल्यू की स्थिति काफी मजबूत

इनके अलावा एक और लग्जरी वाहन निर्माता कंपनी बीएमडब्ल्यू ग्रुप इंडिया के अध्यक्ष विक्रम पावाह ने कहा कि एसएवी (स्पोर्ट्स एक्टिविटी व्हीकल) खंड में हमारी स्थिति काफी मजबूत है। इसके एक्स3, एक्स4 और एक्स7 मॉडलों की मांग काफी ऊंची है। इस सेगमेंट में हमारी वृद्धि 40 प्रतिशत है।

हमारी कुल पोर्टफोलियो में इनका हिस्सा 50 प्रतिशत से अधिक है। बीएमडब्ल्यू इंडिया (BMW India) के एसएवी खंड के वाहनों का दाम 61 लाख रुपये से अधिक है। इस खंड की बिक्री पहली तिमाही में 1,345 इकाई रही है, जो करीब 40 प्रतिशत की वृद्धि है।

यह भी पढ़ें : रिलायंस ने रद्द की फ्यूचर ग्रुप के साथ डील, बताया ये कारण

यह भी पढ़ें : LIC के 3.5 फीसदी शेयर 21000 करोड़ में बेचेगी सरकार, मई के पहले हफ्ते में IPO आने की उम्मीद

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

यह भी पढ़ें : स्टील उत्पादन में 5.9 प्रतिशत की वृद्धि, विश्व के 10 बड़े उत्पादक देशों में सिर्फ भारत में ही बढ़ा प्रोडक्शन

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular