Tuesday, May 24, 2022
HomeDelhiबांगलादेश सीमा से घुसपैठ की समस्या पर क्या बोेले रक्षा मंत्री राजनाथ...

बांगलादेश सीमा से घुसपैठ की समस्या पर क्या बोेले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जानें किसे कहा मित्र पड़ोसी?

  • बांगलादेश सीमा से घुसपैठ लगभग रुकी : राजनाथ
  • कहा, देश में पश्चिमी सीमा की तुलना में पूर्वी सीमा पर ज्यादा शांति
  • आफ्स्पा लगाए जाने के लिए स्थिति जिम्मेदार होती है, सेना नहीं

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बांग्लादेश सीमा से घुसपैठ की समस्या लगभग खत्म हो गई है। देश की पूर्वी सीमा पर शांति और स्थिरता है, क्योंकि बांग्लादेश एक मित्र पड़ोसी है।

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली। शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मौजूदा समय में बांग्लादेश सीमा से घुसपैठ की समस्या करीबन खत्म हो चुकी है। देश की पूर्वी सीमा पर शांति और स्थिरता है, क्योंकि बांग्लादेश एक मित्र पड़ोसी है।

आपको बता दें कि शनिवार को रक्षा मंत्री बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में शामिल रहे असम के सैनिकों के सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान बांग्लादेश को मित्र पड़ोसी बताते हुए राजनाथ ने कहा कि मौजूदा समय में देश की पूर्वी सीमा पर ज्यादा शांति है। भारत पश्चिमी सीमा की तरह वहां तनाव का सामना नहीं कर रहा। वहां घुसपैठ की समस्या लगभग खत्म हो चुकी है।

आफ्स्पा लगाए जाने के लिए स्थिति जिम्मेदार होती है, सेना नहीं

राजनाथ ने पूर्वोत्तर के विभिन्न हिस्सों से सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (आफ्स्पा) को हाल ही में वापस लिए जाने पर कहा कि जब भी किसी स्थान की स्थिति में सुधार हुआ, सरकार ने ऐसा किया। उन्होंने कहा कि यह एक गलतफहमी थी कि सेना हमेशा आफ्स्पा को लागू रखना चाहती है। आफ्स्पा लगाए जाने के लिए स्थिति जिम्मेदार होती है, सेना नहीं।

आतंकवाद के खात्मे को लेकर काम कर रही सरकार

रक्षामंत्री ने कहा कि सरकार देश से आतंकवाद को उखाड़ फेंकने के लिए काम कर रही है। भारत यह संदेश देने में सफल रहा है कि आतंकवाद से सख्ती से निपटा जाएगा। अगर देश को बाहर से निशाना बनाया जाता है तो हम सीमा पार करने से नहीं हिचकिचाएंगे।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

यह भी पढ़ें : श्री गुरु तेग बहादुर जी को क्यों कहा जाता है हिंद दी चादर, जानें कैसे बने त्याग मल से तेग बहादुर?

यह भी पढ़ें : ऐसा क्या हुआ की युवक ने अपने मुंह में बिजली का तार डालकर कर ली आत्महत्या, जानें क्या है कारण?

यह भी पढ़ें : LIC IPO पर युद्ध का असर, 40 प्रतिशत घट सकता है इश्यू साइज

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular