Thursday, October 21, 2021
HomeपंजाबFarmer Protest : नौकरी छोड़ किसानों के हक में उतरा यह अधिकारी

Farmer Protest : नौकरी छोड़ किसानों के हक में उतरा यह अधिकारी

Farmer Protest This officer landed in favor of farmers by leaving their jobs
कहा, अब आजाद रह कर करूंगा किसानों, मजदूरों की सेवा
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
Farmer Protest : केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पास किए गए तीनों कृषि कानून किसानों की जान ले रहे हैं। भाजपा के नेता एवं मंत्री इन कानूनों की आड़ में किसानों के साथ खून की होली खेल रहे हैं। पिछले लगभग दस महीनों में ऐसे कृषि कानून सैकड़ों किसानों की बलि ले चुके हैं जो कि हमारे देश के लिए खतरे की घंटी है। ये विचार पंजाब मंडी बोर्ड में से जिला मंडी अफसर के पद से आज अस्तीफा देकर आए अजयपाल सिंह रंधावा ने चंडीगढ़ प्रेस कल्ब में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधन करते हुए किया।

किसानों की हालत नहीं समझ रही सरकार (Farmer Protest)

पंजाब के जिला तरनतारन निवासी अजयपाल सिंह रंधावा ने कहा कि ये नये तीनों कृषि कानूनों से किसान-मजदूरों एवं आढ़तियों का बहुत बड़ा नुकसान होना है। अपनी जमीनों को बचाने के लिए किसान-मजदूर पिछले लगभग 10 महीनों से दिल्ली के बॉर्डरों पर खुले आस्मान के नीचे बैठ कर गर्मी, सर्दी तथा बरसात का मौसम झेलते आ रहे हैं लेकिन मोदी सरकार उन की मांग मानने की बजाय प्रदर्शन कर रहे किसानों मजदूरों को अंग्रेजों की तर्ज पर कुचलने लग पड़ी है। दुख की बात ये है कि सैंकड़े किसानों के शहीद होने के बावजूद भी केन्द्र सरकार ने एक भी शब्द इन शहीद किसानों के पक्ष में नहीं बोला।

प्रमोशन की नहीं की परवाह

रंधावा ने बताया कि भले ही विभाग में नौकरी करते हुए उनकी प्रमोशन भी नजदीक थी और वे जर्नल मैनेजर की पोस्ट तक जा सकते थे तथा नौकरी से अस्तीफा देने से उन्हें करीब 25 लाख रुपए का वित्तीय नुकसान भी झेलना पड़ेगा लेकिन अपने किसान, मजदूरों एवं आढ़तियों की सेवा करने के सामने यह वित्तीय नुकसान कोई खास मायने नहीं रखता। उन्होंने कहा कि अब वे नौकरी छोड़ने उपरांत वे किसानों, मजदूरों एवं आढ़तियों की बड़ी खुल कर सेवा करेंगे।
SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE