Thursday, January 20, 2022
HomeCoronavirusAYUSH MANTRALAYA: कोरोना महामारी को लेकर जारी किए हेल्थ टिप्स

AYUSH MANTRALAYA: कोरोना महामारी को लेकर जारी किए हेल्थ टिप्स

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
AYUSH MANTRALAYA: कोरोना महामारी की तीसरी लहर लोगों में चिंता का विषय बना है। कई लोगों ने ऐलौपैथी के साथ आयुर्वेद का सहारा लेकर अपनी इम्यूनिटी बेहतर की है। वहीं केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने बढ़ते कोरोना केसों को लेकर जनता की बेहतर सेहत के लिए कुछ दिशानिर्देश भी जारी किए हैं। मंत्रालय ने बताया है कि कैसे इस महामारी के दौर में स्वस्थ रहें। आइए जानते हैं आयुष मंत्रालय की बताई चीजों को कैसे, कब और कितनी मात्रा में लेना है।

इसके अलावा आयुष मंत्रालय ने मास्क के इस्तेमाल, हाथों की सही तरह से सफाई, शारीरिक और सामाजिक दूरी का पालन करना, कोविड टीकाकरण, स्वस्थ आहार, बेहतर इम्युनिटी और अन्य हेल्थकेयर से जुड़े नियमों का पालन करने को भी कहा है।

संक्रमण से बचना है तो तेल का करें प्रयोग

कोरोनावायरस नाक या मुंह के जरिए ही शरीर में प्रवेश करता है। नाक में तेल या घी डालने पर कोई भी वायरस म्यूकस मेम्ब्रेन पर आक्रमण नहीं कर पाता है। सामान्य दिनों में भी अगर दो से तीन बूंद सरसों का तेल, तिल का तेल, घी या नारियल का तेल नाक में डालते हैं तो धूल के सूक्ष्म कण, प्रदूषण, कीटाणु और जीवाणु शरीर में प्रवेश करने से पहले ही खत्म हो जाते हैं।

खाली पेट पिएं काढ़ा 

तुलसी, दालचीनी और अदरक से बनी हर्बल चाय या काढ़ा दिन में दो बार पिएं। काढ़ा को सुबह खाली पेट चाय की तरह पीना चाहिए है। अगर चाहें तो रात में किशमिश मुनक्का को भिगोकर रख दें। सुबह इसके पानी को पी जाएं और किशमिश-मुनक्का चबाकर खा लें। कभी भी खाली पेट दूध न पीएं। दूध पीने का सही समय रात का है।

खाली पेट ना खाएं च्यवनप्राश 

सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले चाय की तरह गर्म पानी पिएं। नाश्ते के बाद एक चम्मच च्यवनप्राश खाएं। अगर कोई छोटा बच्चा च्यवनप्राश पसंद नहीं करता है तो उसे श्यामला दें। च्यवनप्राश कभी भी खाली पेट नहीं खाना चाहिए। इसको पचने में दो घंटे का समय लगता है। डायबिटीज रोगियों को शुगर फ्री च्यवनप्राश लेना चाहिए। सुबह-शाम कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और मेडिटेशन जरूर करें।

लहसुन काटकर इस्तेमाल करें 

खाने में जीरा, सूखी धनिया, कच्ची हल्दी, धनिया पत्ती जरूर शामिल करें। कई लोग लहसुन का पेस्ट बनाकर सब्जी में इस्तेमाल करते हैं। लहसुन का पेस्ट इस्तेमाल करने से ज्यादा अच्छा होगा कि लहसुन को काट कर जिस समय धनिया पत्ती डालते हैं, उसी समय लहसुन भी डालकर सब्जी को पकाएं यह सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होगा। अगर घर में मसाले का पाउडर बनाते हैं तो पाउडर बनाने से पहले मसाले को भून लें। हर मसाले में तेल होता है अगर आप भून लेंगे तो इसके पोषक तत्व हमारे लिए ज्यादा फायदेमंद होंगे।

नींबू, दही का करें सेवन

खाने में नींबू जरूर शामिल करें। इसमें साइट्रिक एसिड होता है। अगर दाल में नींबू पसंद नहीं है तो उसे किसी और तरीके से अपनी डायट में शामिल करें। दरअसल, नींबू में विटामिन सी पाया जाता है जो आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। जिससे आप मौसमी बीमारियों से बच सकते हैं। दही का भी इस्तेमाल करना अच्छा है, लेकिन दही रात को न खाएं। खट्टे फल खाना हमारी सेहत के लिए फायदेमंद है। दाल पकाने से पहले कभी भी तड़का लगाकर न पकाएं। बिना तड़के वाली प्लेन दाल बनाएं। उसमें देसी घी का इस्तेमाल करें।

तिल के तेल का छौंक लगाएं 

तिल के तेल का खाने में छौंक लगा सकते हैं। तिल का तेल हमारे सेहत के लिए फायदेमंद हैं। नारियल का तेल या गाय के घी का अपने खाने में ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें। कच्चा आंवला, घर का बना पनीर और दही खाएं। सरसों के तेल और नमक से गरारे करें। इसके बाद गर्म पानी पिएं। इसे दिन में एक या दो बार किया जा सकता है।

पुदीना-अदरक-अजवायन की भाप लें ( AYUSH MANTRALAYA)

ताजा पुदीना की पत्तियों या अजवाइन और अदरक के साथ गर्म पानी की भाप जरूर लें। ज्यादा खांसी होने पर दूध में कच्ची हल्दी को उबालकर या फिर पिसी हल्दी को भी दूध में मिलाकर पिया जा सकता है। बच्चों के खाने में ताजे फल, सब्जियां शामिल करें। बच्चों को जंक फूड और फास्ट फूड से दूर रखें। अगर आप हल्दी या हल्दी वाला दूध नहीं पी पाते हैं तो गुरुची या गिलोय का रस निकाल सकते हैं।

Also Read : Omicron Threatens Everyone: कई देशों में ओमिक्रॉन बनता जा रहा डोमिनेंट वेरिएंट

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE