Thursday, May 26, 2022
HomeHealth Tipsक्या आप अपने स्टैमिना को बढ़ाना चाहते है ? तो इन ...

क्या आप अपने स्टैमिना को बढ़ाना चाहते है ? तो इन व्यायाम और डाइट को अपनाये Know How To Increase Stamina

इस लेख स्टेमिना बढ़ाने के तरीके कई हैं, जिनमें से कुछ आसान और प्रभावी उपायों के बारे में हम आगे बता रहे हैं। इन्हें अपना कर हर कोई अपना स्टैमिना बढ़ा सकता है।

Know How To Increase Stamina : क्या जब आप वर्कआउट करते तो जल्दी थक जाते हैं? कुछ दूर दौड़ते ही हाफने लगते हैं? आसान सा शारीरिक काम ज्यादा देर तक नहीं कर पाते? अगर ऐसा है, तो समझ जाइए कि आपमें स्टैमिना है। ये सभी स्टैमिना की कमी के लक्षण माने जाते हैं। स्टैमिना की कमी होने पर घबराने की नहीं, बल्कि जागरूक होकर जरूरी कदम उठाने की जरूरत होती है। आइये जानते है हम स्टैमिना को कैसे इनक्रीस कर सकते है।

जानिए क्या है स्टैमिना ? – What is Stamina in Hindi

किसी भी काम को बिना थके लंबे समय तक करने की शारीरिक क्षमता को स्टैमिना कहते हैं। आसान शब्दों में कहें, तो लंबे समय तक बिना थकावट के शारीरिक गतिविधि करने और तनाव या बीमारी को सहने की ऊर्जा व शक्ति ही स्टैमिना है

यह रहे स्टेमिना बढ़ाने के कुछ उपाय

इस लेख स्टेमिना बढ़ाने के तरीके कई हैं, जिनमें से कुछ आसान और प्रभावी उपायों के बारे में हम आगे बता रहे हैं। इन्हें अपना कर हर कोई अपना स्टैमिना बढ़ा सकता है। यदि आप इन तरीको को अपना लेते है तो आप भी अपना स्टैमिना बड़ा सकते है।

इन व्यायामों को ज़रूर करें

Endurance: कुछ शारीरिक गतिविधियां ऐसी होती हैं, जो व्यक्ति के एंड्यूरेंस यानी सहनशक्ति को बढ़ाती हैं। इनमें तेज चलना, तैराकी, टहलना व डांस करना आदि शामिल हैं। इससे सांस लेने और हृदय गति में सुधार होता है। साथ ही फेफड़े बेहतर तरीके से काम कर पाते हैं।

Strength: स्ट्रेंथ एक्सरसाइज शरीर की मांसपेशियों को मजबूत बनाती हैं। इससे व्यक्ति का स्टैमिना भी बढ़ सकता है। इन एक्सरसाइज में वेट लिफ्टिंग, पुल अप व पुश अप जैसी शामिल हैं।

Balance: ऐसी एक्सरसाइज संतुलन बनाने में मदद करती हैं। निचले शरीर के व्यायाम से संतुलन में सुधार किया जा सकता है। संतुलन वाली एक्सरसाइज में एक पैर पर खड़ा होना व हील-टू-टो वॉक शामिल हैं।

Flexibility: यह एक्सरसाइज मांसपेशियों में खिंचाव और उनमें लचीलापन लाने में मदद करती है। इसके लिए तैराकी, थाई स्ट्रेच, एंकल स्ट्रेच कर सकते हैं।

कैफीन का सेवन

कैफीन के कारण शरीर में लिपिड यानी वसा तोड़ने की लिपोलिसिस प्रक्रिया होती है। इससे शरीर की ऊर्जा को बढ़ावा मिल सकता है। साथ ही कैफीन से शरीर को एर्गोजेनिक यानी शरीर की कार्य क्षमता बढ़ाने का लाभ भी मिलता है। लगभग 6 मिलीग्राम कैफीन स्टैमिना को बेहतर कर सकता है

धूम्रपान छोड़ें

जब कोई धूम्रपान करता है, तो उसके शरीर को स्वस्थ रखने के लिए दिल को अतिरिक्त काम करना पड़ता है। इसके अलावा, धूम्रपान और सिगरेट के धुएं में मौजूद टार फेफड़ों की क्षमता को नुकसान पहुंचाता है। साथ ही धूम्रपान कफ भी पैदा करता है, जो फेफड़ों के लिए अच्छा नहीं होता है। इन सब कारणों से स्टैमिना पर नकारात्मक असर पड़ता है

अल्कोहल से दुरी बनाये रखे

अल्कोहल का सेवन करने का नकारात्मक असर स्टैमिना पर दिखाई देता है। इसके सेवन से ऊर्जा में कमी हो सकती है, जिसका नकारात्मक असर स्टैमिना पर पड़ सकता है। एनसीबीआई पर पब्लिश मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, अल्कोहल की अधिक मात्रा से रक्त प्रवाह और प्रोटीन के अवशोषण पर भी हानिकारक प्रभाव पड़ सकता है। इन कारणों से कहा जा सकता है कि शराब पीने से स्टैमिना कमजोर हो सकता है।

मैडिटेशन और योगा

स्टेमिना बढ़ाने के उपाय में ध्यान और योग को भी शामिल किया जा सकता है। एक शोध के अनुसार, ध्यान और योग के नियमित अभ्यास से स्टैमिना को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है। स्टैमिना बढ़ाने के लिए नौकासन, हनुमानासन योग, बालासन, कोणासन और सेतुबंधासन कर सकते हैं।

संगीत सुनना है उपयोगी

स्टैमिना बढ़ाने में संगीत की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। रिसर्च के मुताबिक, संगीत व्यायाम की अवधि और शरीर की कार्य क्षमता को बढ़ा सकता है। अन्य अध्ययन में लिखा है कि एक्सरसाइज के दौरान संगीत सुनने से डिस्पनिया या सांस की तकलीफ कम हो जाती है। ऐसे में स्टेमिना बढ़ाने के उपाय के तौर पर संगीत का सहारा लिया जा सकता है।

अश्वगंधा

स्टेमिना बढ़ाने के घरेलू उपाय में अश्वगंधा को भी शामिल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक शोध की मानें, तो अश्वगंधा एक हर्बल सप्लीमेंट है, जो स्टैमिना में सुधार कर सकता है। दरअसल, यह शरीर में ऊर्जा की मात्रा को बढ़ाने का काम करता है, जिससे अधिक समय तक शरीर को कार्य करने में सहायता मिल सकती है। बस अश्वगंधा लेने से पहले चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

सोडियम लेवल

शरीर में सोडियम के स्तर का बना रहना भी स्टैमिना को बनाए रखने के लिए जरूरी होता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, तरल पदार्थ और सोडियम की कमी से शारीरिक गतिविधि पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। शोध में कहा गया है कि व्यायाम के समय शारीरिक कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिए उचित मात्रा में सोडियम का स्तर शरीर में बना रहना चाहिए

प्रोटीन रिच डाइट

स्टेमिना बढ़ाने के घरेलू उपाय के रूप में प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन किया जा सकता है। खाद्य पदार्थों से मिलने वाला प्रोटीन मांसपेशियों के निर्माण, विकास और मजबूती के लिए महत्वपूर्ण है। दरअसल, प्रोटीन धीरे-धीरे पचता है और शरीर को भरपूर ऊर्जा व स्टैमिना देता है। इसी वजह से प्रोटीन युक्त भोजन का सेवन करके दिन भर व्यक्ति एक्टिव महसूस कर सकता है

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

यह भी पढ़ें :- नाक को शेप में लाने के लिए करे ये 7 एक्सरसाइज Nose Exercises in Hindi

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
Mehak Jain
Introvert with a hint of sarcasm. Why journalism? Because I love collecting information, researching and reporting it. i like to writes about Gadgets, Consumer Tech, Telecom. Apart from writing, I adore community animals and feeding them gives me a boost of endorphins. Nature is my peace and food is my first love. Follower of biographies. I live by one motto: Be Kind to All Kinds!
RELATED ARTICLES

Most Popular