Sunday, October 24, 2021
HomeTrendingHorses at Indian Weddings: शादियों में घोड़ों के इस्तेमाल को पेटा ने...

Horses at Indian Weddings: शादियों में घोड़ों के इस्तेमाल को पेटा ने बताया ‘अपमानजनक और क्रूर’, लोगों ने कहा पेटा को भारत विरोधी

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
Horses at Indian Weddings: आए दिन ट्विटर पर कुछ न कुछ ट्रेंड करता रहता है, जैसे आज यानी बुधवार को, पीपुल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (पेटा) को लोगों ने आड़े हाथों ले लिया और जमकर ट्रोल किया। दरअसल पेटा ने भारतीय शादियों में घोड़ों (Horses at Indian Weddings) के इस्तेमाल को रोकने के लिए ट्विटर का सहारा लिया और कहा, “शादी समारोहों में घोड़ों का उपयोग करना अपमानजनक और क्रूर है”।

इस समय देश में शादियों के सीजन आ गया है। भारतीय शादियों में घोड़ों का उपयोग करना एक प्रथा है, ज्यादातर हिंदू और सिख समुदायों में दूल्हे की बारात के आगमन के लिए, घोड़ों को उपयोग किया जाता है।

Horses at Indian Weddings पेटा का दावा

इस मामले में पेटा इंडिया की सीनियर कैंपेन कोऑर्डिनेटर, राधिका सूर्यवंशी ने कहा है कि ह्लनुकीले टुकड़े यातना देने वाले उपकरण हैं जो घोड़ों को जीवन भर घायल और आघात पहुंचा सकते हैं। पेटा इंडिया जोड़ों से घोड़ों (Horses at Indian Weddings) के लिए दिल रखने और उन्हें अपनी शादी के दिन की योजना से बाहर करने के लिए कह रही है।”

ड्राफ्ट एंड पैक एनिमल्स रूल्स, 1965 के प्रति क्रूरता की रोकथाम के नियम 8 में नुकीले बिट्स के उपयोग पर मनाही है। लेकिन पेटा इंडिया का दावा है कि निरीक्षणों में इन यातना उपकरणों को जानवरों के मुंह में गहराई से एम्बेडेड पाया गया है, उनके होंठ और जीभ को चीरते हुए घाव अत्यधिक दर्द, खूनी घाव, अत्यधिक मनोवैज्ञानिक आघात और आजीवन क्षति का कारण बन सकता है।

How Did Diabetes patients stay fit in Covid : Covid में Diabetes के मरीज कैसे रहें Fit

पेटा ने दावा किया है कि जैसे-जैसे नुकीले टुकड़ों की क्रूरता के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ती जा रही है, वैसे-वैसे कई विवाह पार्टियां घोड़े से मुक्त बारात विकल्प चुन रही हैं, बस चलने से लेकर फैंसी कारों में आने और यहां तक कि दूल्हे हेलीकॉप्टर से भी आ रहे हैं।

Horses at Indian Weddings पेटा को किया ट्रोल

पेटा के ट्वीट को लोगों ने जमकर लताड़ा, कईयों ने तो संगठन को “भारत विरोधी” कहा और इसके रुख को “भारतीय परंपराओं पर हमला” कहा।

 

शादी के मौसम से ठीक एक महीने पहले, सितंबर से ही पेटा ने शादियों में घोड़ों का इस्तेमाल न करने और दर्दनाक नुकीले टुकड़ों का उपयोग करने की क्रूर प्रथा के लिए जनता को सचेत करना शुरू कर दिया था। जोड़ों से अपने विशेष दिन के दौरान जानवरों को पीड़ित करने से बचने का भी आग्रह किया। पेटा ने लखनऊ, चंडीगढ़, दिल्ली, जयपुर और मुंबई में होर्डिंग भी लगाए।

Read More: Manmohan Singh Former PM को सांस लेने में तकलीफ, एम्स में भर्ती

Contact us  : Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE