Thursday, May 26, 2022
HomeIndia NewsExplainerTwitter's New Owner Elon Musk : मस्क के ट्विटर खरीदने की...

Twitter’s New Owner Elon Musk : मस्क के ट्विटर खरीदने की वजह क्या ?

मस्क ने ट्विटर को 44 बिलियन डॉलर यानी 3,368 अरब रुपए में खरीदने को ऑफर दिया था जिसे कंपनी ने स्वीकार कर लिया है। (Twitter's New Owner Elon Musk)

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
टेस्ला के सीईओ एलन मस्क बीती रात से ट्विटर के नए मालिक चुके हैं। Elon Musk ने ट्विटर को 44 बिलियन डॉलर यानी 3,368 अरब रुपए में खरीदने को ऑफर दिया था जिसे ट्विटर कंपनी ने स्वीकार कर लिया है। (elon musk’s buyout deal) यह जानकारी ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने भारतीय समय के मुताबिक रात 12 बजकर 24 मिनट पर एक प्रेस रिलीज के जरिए दी है। तो चलिए जानते हैं कौन है एलन मस्क। आखिर टेस्ला, स्पेसएक्स जैसी मुनाफे वाली कंपनी चलाने वाले मस्क ने कमजोर बैलेंस शीट वाली ट्विटर को क्यों खरीदा है। ये आइडिया मस्क को कैसे आया। ट्विटर के जरिए क्या हासिल करना चाहते हैं मस्क।

एलन मस्क का इतिहास

  • एलन मस्क का जन्म 28 जून 1971 को साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया शहर में हुआ था। एलन मस्क की मां अमेरिकन थीं और पिता साउथ अफ्रीकन। 12 साल की उम्र में एलन मस्क ने एक वीडियो गेम बनाया और फिर उसे एक मैगजीन को 500 डॉलर में बेच दिया। स्पेस फाइटिंग गेम का नाम ब्लास्टर था।
  • मस्क ने अपने भाई किंबल के साथ मिलकर जिप 2 नाम की सॉफ्टवेयर कंपनी शुरू की। बाद में इसे भी 2.2 करोड़ डॉलर में कॉम्पैक कंपनी को बेच दिया। 1999 में एलन मस्क ने करीब एक करोड़ डॉलर के निवेश से एक्स डॉट कॉम की शुरूआत की। ये बाद में कॉन्फिनिटी नाम की कंपनी के साथ मर्ज हो गई। जो आगे चलकर पेपैल बनी।
  • 2002 में ईबे ने पेपैल को 150 करोड़ डॉलर में खरीद लिया, जिसमें मस्क का हिस्सा 16.5 करोड़ डॉलर था। इसके बाद मस्क ने स्पेस रिसर्च की तकनीकों पर काम करना शुरू किया। उनके इसी प्रोग्राम को ‘स्पेस-एक्स’ का नाम दिया गया, जिसने कहा कि ‘मनुष्य आने वाले समय में दूसरे ग्रहों पर भी रह सकेंगे।’
  • साल 2004 में एलन मस्क ने इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला की बुनियाद रखी और कहा, भविष्य में सब कुछ इलेक्ट्रिक होगा। स्पेस में जाने वाले रॉकेट भी और टेस्ला इस बदलाव को लाने में अहम भूमिका निभाएगी।

ट्विटर खरीदने का मस्क को आइडिया कैसे आया?

मस्क के ट्विटर खरीदने की वजह क्या

  • बताया जाता है कि 21 दिसंबर 2017 को रात लगभग 11 बजकर 20 मिनट पर टेस्ला के फाउंडर एलन मस्क ने ट्वीट कर लिखा-आई लव ट्विटर। मस्क के इस ट्वीट के जवाब में अमेरिकी पत्रकार डेव स्मिथ ने पूछा कि फिर इसे खरीद क्यों नहीं लेते। इस पर मस्क ने भी पूछ लिया-इसकी कीमत कितनी है।
  • इस ट्वीट के 52 माह बाद यानी 25 अप्रैल 2022 को एलन मस्क ने ट्विटर को 44 अरब डॉलर, यानी भारतीय मुद्रा के हिसाब से 3,368 अरब रुपए में खरीद लिया है। मस्क ने ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर, यानी 4,148 रुपए दिए हैं। मस्क ने इसके बाद ट्वीट कर लिखा कि फ्री स्पीच लोकतंत्र का आधार है। ट्विटर डिजिटल टाउन है, जहां मानवता के भविष्य के लिए जरूरी विषयों पर बहस होती है।

वायरल हो रहा मस्क और डेव का वीडियो  (Twitter’s New Owner Elon Musk )

टेस्ला के फाउंडर और डेव स्मिथ का यह बातचीत सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। स्मिथ के ट्विटर हैंडल पर इसे 2 घंटे में 3.60 लाख से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है। इधर, डील के बाद ट्विटर पर एलन मस्क सबसे ज्यादा ट्रेंड करने लगा है।

एलन की ट्विटर खरीदने की मंशा क्या थी

मस्क के ट्विटर खरीदने की वजह क्या ?

एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर कारोबारी हैं। वे फ्रीडम आॅफ स्पीच के तरफदार हैं। ट्विटर को खरीदने की अपनी मंशा के पीछे भी उन्होंने यही वजह बताई थी कि इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फ्रीडम आॅफ स्पीच खतरे में है और वे सुनिश्चित करना चाहते हैं कि यह बनी रहे। मस्क ने कहा है कि वह ट्विटर को इसलिए खरीदना चाहते हैं, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि यह स्वतंत्र अभिव्यक्ति के मंच के रूप में अपनी क्षमता पर खरा उतर पा रहा है।

10 दिन तक चलती रही खरीद-बिक्री पर चर्चा

एलन मस्क ने बीते 4 अप्रैल 2022 को पहली बार ट्विटर में 9.2 फीसदी शेयर खरीदने की जानकारी दी थी। उन्होंने 15 अप्रैल को ट्विटर को पूरी तरह खरीदने का ऑफर दिया। उस समय ट्विटर के शेयर होल्डर्स में से एक सऊदी प्रिंस अल वलीद बिन तलाल एलन ने मस्क के ऑफर को ठुकरा दिया था, लेकिन पिछले सात दिन से ट्विटर बोर्ड की लगातार बैठकें होती रहीं और आखिरकार बोर्ड ने मस्क के ऑफर को मंजूर कर ही लिया।

मस्क ने ट्विटर को खरीदने के लिए क्या डील की है?

  • एलन मस्क ने ट्विटर को 3.37 लाख करोड़ रुपए में खरीदने का ऑफर दिया है, जिसे कंपनी ने स्वीकार कर लिया है। मस्क ने दो सप्ताह पहले कहा था कि ट्विटर में जबरदस्त क्षमता है जिसे वह अनलॉक करेंगे। ये डील होने के साथ ही सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली फर्म ट्विटर अब मस्क के स्वामित्व वाली एक निजी कंपनी बन जाएगी।
  • ट्विटर ने कहा है कि कंपनी की कीमत 54.20 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से लगाई गई है, जो कुल 44 अरब डॉलर होगी। फर्म ने कहा है कि अब वह शेयरधारकों से सौदे को मंजूरी देने के लिए वोटिंग करने के लिए कहेगी। कंपनी के सीईओ पराग अग्रवाल ने एक ट्वीट में कहा कि ट्विटर का एक उद्देश्य और प्रासंगिकता है जो पूरी दुनिया को प्रभावित करती है। हमें अपनर टीम पर गर्व है और हम वो काम करने को प्रेरित हैं जो पहले से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है।

क्यों किराए के मकान में रहते हैं ट्विटर के नए मालिक मस्क?

  • 2020 में एलन मस्क ने ट्विटर पर कहा कि वो अपनी जिंदगी की भव्यता कम कर रहे हैं और अब अपने पास कोई घर नहीं रखेंगे। महज एक साल में ही उन्होंने अपने सभी सात आलीशान मेंशन बेच दिए। फोर्ब्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वो 20७20 के एक किराए के घर में रहते हैं। इस घर को बॉक्सबेल नाम के हाउजिंग स्टार्टअप ने बनाया है। ये घर फोल्डेबल है और ट्रांसपोर्ट किया जा सकता है।
  • बता दें कि एक इंटरव्यू के जरिए एलन मस्क ने कहा था कि उनकी जिंदगी में एक ऐसा समय आया, जब अपने खर्च के लिए दोस्तों से पैसे उधार लेने पड़े। क्या उन्हें दिवालिया होने का डर नहीं लगा? इस सवाल पर एलन मस्क ने कहा- ज्यादा से ज्यादा क्या होता, मेरे बच्चों को सरकारी स्कूल में जाना पड़ता, तो इसमें क्या बड़ी बात होती, मैं खुद सरकारी स्कूल में पढ़ा हूं। एलन मस्क का ये जवाब उनकी शख्सियत को बताने के लिए काफी है।

क्या मस्क ट्विटर के जरिए दुनिया पर पकड़ मजबूत बनाना चाहते?

मस्क के ट्विटर खरीदने की वजह क्या

  • नेताओं, बिजनेस लीडर्स, मशहूर हस्तियों और पत्रकारों के लिए ट्विटर अपने मैसेज को आगे बढ़ाने और नैरेटिव को नियंत्रित करने के लिए महत्वपूर्ण मंच है। मस्क दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के मालिक हैं। मस्क स्पेस एक्स के भी मालिक हैं।
  • मस्क 20.8 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ इस समय दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति भी है। लेकिन बताया जाता है कि सब कुछ होने के बाद भी उनके पास मीडिया से जुड़ा कोई कारोबार नहीं है। जबकि, दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति और अमेजन प्रमुख जेफ बेजोस ने कारोबार के साथ मीडिया में भी निवेश कर रखा है।
  • बेजोस अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के मालिक हैं। भारत के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी के पास भी अपना मीडिया हाउस है। मुकेश अंबानी नेटवर्क 18 के मालिक हैं। ट्विटर मस्क के लिए ठीक उसी कारण से मूल्यवान है जिस कारण से यह अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जैसे नेताओं के लिए है- जिन्होंने सालों तक बिना किसी परिणाम की चिंता के इस प्लेटफॉर्म पर वह सब कुछ कहा जो दिमाग में आता था।
  • हालांकि, उसकी भी एक सीमा थी और आखिरकार ट्रंप को ट्विटर सहित सभी बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से बैन कर दिया गया। हो सकता है कि ट्विटर पर 8 करोड़ से अधिक फॉलोवर वाले मस्क ऐसी किसी भी पाबंदी को भविष्य में नहीं चाहते हों।

डील की चर्चा से ट्विटर का शेयर 6 फीसदी चढ़ा था

बीते कल सोमवार को दिनभर एलन मस्क के ट्विटर को खरीदने के बारे में चचार्एं चलती रहीं। इससे ट्विटर के शेयर में 6 फीसदी का उछाल आया था। मस्क के हाथों में आने के बाद लोगों को कंपनी में बड़ी ग्रोथ की उम्मीद है। खुद मस्क भी कह चुके हैं कि ट्विटर में काफी पोटेंशियल है। इस डील से पहले मस्क ने एक ट्वीट किया-उम्मीद है कि मेरे सबसे खराब आलोचक भी ट्विटर पर बने रहेंगे, क्योंकि फ्री स्पीच का यही मतलब है।

दुनियाभर में कितने एक्टिव यूजर्स हैं

  • माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर की अहमियत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दुनियाभर में इसके 21.7 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं। इनमें सबसे ज्यादा 7.7 करोड़ अमेरिका में हैं। दूसरे नंबर जापान है, जहां 5.8 करोड़ लोग ट्विटर इस्तेमाल करते हैं। वहीं, 2.4 करोड़ यूजर्स के साथ भारत का नंबर तीसरा है।
  • दुनियाभर में हर दिन करीब 50 करोड़ ट्वीट किए जाते हैं। ट्विटर के 38 फीसदी यूजर्स युवा हैं। इनकी उम्र 25 से 30 साल के बीच है। हर व्यक्ति के औसतन 707 फॉलोअर्स हैं। अगर इन सभी आंकड़ों को मिला दें, तो दुनियाभर में ट्विटर से किसी न किसी रूप में जुड़े लोगों का आंकड़ा 21.7 करोड़ से कहीं ऊपर निकल जाता है।

क्या मस्क पहले भी ट्विटर में हिस्सेदार थे

ट्विटर को खरीदने की डील फाइनल होने से पहले भी एलन मस्क 9.2 फीसदी हिस्सेदारी के साथ ट्विटर के सबसे बड़े शेयरहोल्डर थे। उनके बाद वैनगार्ड ग्रुप का नंबर आता है, जिसके पास 8.8 फीसदी की हिस्सेदारी है। अब ट्विटर पर मस्क का ही 100 फीसदी मालिकाना हक होगा और यह उनकी एक प्राइवेट कंपनी बन जाएगी।

ट्विटर मैनेजमेंट और मस्क के बीच पहले भी थी तनातनी

मस्क ने करीब 4 हफ्ते पहले ट्विटर में 9.2 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने का खुलासा किया था। 9.2 फीसदी हिस्सेदारी के साथ ही वह ट्विटर के सबसे बड़े शेयर होल्डर बन गए थे। इसके बाद से मस्क और ट्विटर के बीच काफी तनातनी देखने को मिल रही है। ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल ने 4 अप्रैल को मस्क को ट्विटर के निदेशक मंडल में शामिल होने का न्योता दिया था। 9 अप्रैल को मस्क ने ट्विटर को बताया कि वह बोर्ड में नहीं शामिल होंगे।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

ये भी पढ़ें : Parag Agarwal को Twitter से निकालना Elon Musk को पड़ सकता है भारी, देनी होगी इतनी कीमत

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular