Wednesday, December 8, 2021
HomeIndia NewsINS Visakhapatnam कल होगा भारतीय नौसेना में शामिल, जानें क्या हैं खासियतें

INS Visakhapatnam कल होगा भारतीय नौसेना में शामिल, जानें क्या हैं खासियतें

INS Visakhapatnam
इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:

गाइडेड मिसाइल से आईएनएस विशाखापट्टनम को कल 21 नवंबर को भारतीय नौसेना में शामिल किया जाएगा। आईएनएस विशाखापत्तनम से भारत की समुद्री ताकत काफी बढ़ेगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में इसे मुंबई डॉकयार्ड में आयोजित होने वाली कमीशनिंग सेरेमेनी में भारतीय नौसेना में शामिल किया जाएगा।

इसे आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 75 फीसदी स्वदेशी उपकरणों से तैयार किया गया है। यह बिना कोई आवाज किए दुश्मनों पर हमला करने में माहिर है। इसे मुंबई के मझगांव डॉक पर तैयार किया गया है। इसकी लंबाई 163 मीटर, चौड़ाई 17 मीटर और वजन 7400 टन है। इसकी अधिकतम रफ्तार 55.56 किलोमीटर प्रतिघंटा है। इसे 4 अलग-अलग गैस टरबाइन इंजन से ताकत मिलती है।

आईएनएस विशाखापट्टनम के शामिल होने से भारतीय नौ सेना की ताकत काफी बढ़ जाएगी। कैप्टन बीरेंद्र सिंह ने कहा कि कमीशनिंग के बाद हम इसका कुछ और परीक्षण जारी रखेंगे। हमने अपनी आनबोर्ड मशीनरी, विभिन्न सहायक, हथियार प्रणालियों और सेंसर में सुधार किया है।

बता दें कि INS Visakhapatnam को भारत में बने सबसे शक्तिशाली युद्धपोतों में से एक माना जा रहा है। आईएनएस विशाखापत्तनम को नौसेना डिजाइन निदेशालय ने डिजाइन किया था जबकि इसे मझगांव डॉकयार्ड लिमिटेड ने इसे बनाया है। यह नौसेना के प्रोजेक्ट पी 15 बी का हिस्सा है। इसके अलावा 3 और डिस्ट्रॉयर पोत बनने हैं। इन चारों की कुल लागत करीब 35,000 करोड़ रुपए हैं।

INS Visakhapatnam की खासियतें

  1. हवाई हमले से बचने के लिए आईएनएस विशाखापट्टनम 32 बराक 8 मिसाइल से लैस है।
  2. ये जहाज शक्तिशाली संयुक्त गैस प्रणोदन के साथ 30 समुद्री मील से अधिक की गति से चल सकता है।
  3. इस जहाज में 2 हेलीकॉप्टर का भी संचालन किया जा सकता है।
  4. मिसाइल सतह से हवा में मार करता है।
  5. इसका इस्तेमाल विमान, हेलिकॉप्टर, एंटी शिप मिसाइल, ड्रोन, बैलिस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और लड़ाकू
  6. विमान को नष्ट करने के लिए किया जाता है।
  7. आईएनएस विशाखापट्टनम 16 ब्रह्मोस मिसाइल से लैस है।
  8. इसकी अधिकतम रफ्तार 55.56 किलोमीटर प्रतिघंटा है।
  9. इसे चार गैस टर्बाइन इंजन से ताकत मिलती है।

Also Read : Priyanka Gandhi ने लिखा पीएम मोदी को पत्र, लखीमपुर हिंसा के पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग

Connect With Us:-  Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE