होम / जनता की अदालत में फेल हुए दलबदलू नेता, 76 में से एक तिहाई ही बन पाए सांसद

जनता की अदालत में फेल हुए दलबदलू नेता, 76 में से एक तिहाई ही बन पाए सांसद

Rajesh kumar • LAST UPDATED : June 7, 2024, 4:45 pm IST

India News(इंडिया न्यूज), Lok Sabha Election: लोकसभा चुनाव 2024 में कई सीटों पर चौंकाने वाले नतीजे आए हैं। कई दिग्गज नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है, तो कई सीटों पर प्रत्याशियों की जीत ने भी चौंकाया है। चुनाव से पहले अपना दिल और दल बदलने वाले कई नेताओं को इस बार जनता ने नकार दिया है। ऐसे ज्यादातर प्रत्याशियों को करारी हार का सामना करना पड़ा है। आइए जानते हैं इस चुनाव में दलबदलू नेताओं का प्रदर्शन कैसा रहा?

इस लोकसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस ने 76 दलबदलू नेताओं को मैदान में उतारा था। इन 76 नेताओं ने किसी तरह तिकड़म लगाकर टिकट तो हासिल कर लिया, लेकिन सभी जनता का विश्वास जीतने में सफल नहीं हो पाए। इसमें से सिर्फ 20 ही सांसद बन पाए हैं। इससे पता चलता है कि 73 फीसदी दलबदलू नेताओं को जनता ने नकार दिया है। आने वाले चुनावों में राजनीतिक दलों के लिए भी यह एक बड़ा सबक होगा।

सीएम केजरीवाल को लगा एक और झटका, जमानत याचिका पर सुनवाई टली

पार्टी के हिसाब से देखा जाए तो दूसरे दलों से आए 33 नेताओं को कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में टिकट दिया था। इसमें से 26 नेता जनता का विश्वास नहीं जीत पाए। इस तरह 78 फीसदी नेता जनता की अदालत में नकार दिए गए। इसी तरह भाजपा ने दूसरे दलों से आए 43 नेताओं को टिकट दिया था। इनमें से 30 को हार का सामना करना पड़ा। टिकटों और जीतने वाले उम्मीदवारों की संख्या पर गौर करें तो यहां 70 फीसदी दलबदलुओं को जनता ने नकार दिया है।

भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े थे ये दलबदलू नेता

लुधियाना सीट पर रवनीत सिंह बिट्टू (तीन बार के कांग्रेस सांसद) को पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने करीब 21 हजार वोटों से हराया। राजस्थान के नागौर से ज्योति मिर्धा (पूर्व कांग्रेस सांसद) चुनाव लड़ीं। उन्हें राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार हनुमान बेनीवाल ने 42 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से भाजपा उम्मीदवार अर्जुन सिंह टीएमसी छोड़कर आए थे। उन्हें टीएमसी उम्मीदवार पार्थ भौमिक ने 64 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। इसी तरह हरियाणा में रणजीत सिंह चौटाला को कांग्रेस के जय प्रकाश ने हराया। सिरसा सीट पर अशोक तंवर कांग्रेस की शैलजा कुमारी से हार गए। कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे ये दलबदलू नेता

बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए दानिश अली अमरोहा सीट से हार गए हैं। उन्हें भाजपा उम्मीदवार कंवर सिंह तंवर ने हराया है। राजस्थान की कोटा सीट पर पूर्व भाजपा नेता प्रहलाद गुंजल को हार का सामना करना पड़ा है। भाजपा के ओम बिरला ने उन्हें 2.78 लाख से अधिक वोटों से हराया है। बिहार की मुजफ्फरपुर सीट पर पूर्व भाजपा नेता अजय निषाद को भाजपा के राज भूषण चौधरी ने करीब दो लाख वोटों से हराया है।

इसके साथ ही कांग्रेस की सूची में हारने वाले अन्य दलबदलू नेताओं में तेलंगाना के चेवेल्ला से जी रंजीत रेड्डी, सिकंदराबाद से दानम नागेंद्र और मलकाजगिरी से सुनीता महेंद्र रेड्डी शामिल हैं। इस तरह जनता ने राजनीतिक दलों को साफ संदेश दिया है कि दलबदलू नेताओं को टिकट देने से पहले उन्हें सौ बार सोचना चाहिए।

Nitish Kumar ने इस तरह दिया समर्थन कि हंसने लगे PM Modi, देखें वीडियो

Get Current Updates on News India, India News, News India sports, News India Health along with News India Entertainment, India Lok Sabha Election and Headlines from India and around the world.

ADVERTISEMENT

लेटेस्ट खबरें

ADVERTISEMENT