Wednesday, October 27, 2021
HomeखेलIndia's first World Cup Sold for Rs 82 Lakh, यह है टीम...

India’s first World Cup Sold for Rs 82 Lakh, यह है टीम इंडिया की पुरानी टी-शर्ट के दाम

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:

India’s first World Cup : दुनिया का पहला आगमेंटेड रियलिटी क्रिकेट एनएफटी प्लेटफॉर्म- क्रिकफ्लिक्स का शानदार आगाज हुआ। पहले घंटे में ही कुल 1,85,00 डॉलर (1।38 करोड़ रुपये) के सामान की बिक्री हुई। इसमें से अकेले 1,10,000 डॉलर यानी करीब 82 लाख रुपए में भारत की पहली विश्व कप जीत की ट्रॉफी की रेप्लिका बिकी। इसके अलावा टेस्ट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले श्रीलंका के दिग्गज आफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन के आखिरी टेस्ट मैच की गेंद भी लाखों रुपए में नीलाम हुई।

1983 विश्व कप की ट्रॉफी को रेप्लिका एहसान मोरावेज नाम के शख्स ने खरीदी। यह ट्रॉफी चांदी से बनी थी और इसमें हीरों के अलावा कई बहुमूल्य रत्न भी लगे हुए थे। वहीं, मुरलीधरन की आखिरी टेस्ट मैच की गेंद दाहम आरनगाला ने 40 हजार डॉलर (30 लाख रुपये) खर्च किए। इसके अलावा 1983 में विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ियों की ओर से साइन की गई टी-शर्ट भी 5 हजार डॉलर की कीमत चुकाकर खरीदी गई।

Also Read : IPL 2021 KKR vs RR: कोलकाता ने राजस्थान को 86 रन से हराकर दर्ज की बड़ी जीत, केकेआर की प्लेऑफ में जगह लगभग पक्की

वहीं, 2016 में विश्व कप जीतने वाली वेस्टइंडीज टीम के एक बल्ले को भी बेचा गया। इस बैट पर कैरेबियाई टीम के खिलाड़ियों ने साइन किया हुआ था। दुनिया भर के क्रिकेट फैंस के लिए यह सामान ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण है और जिन लोगों ने इन्हें खरीदा है, उनके लिए यह पुरानी यादों को साझा करने जैसा है। आप अंदाजा लगा सकते हैं कि भारत की 1983 विश्व विजेता टीम द्वारा साइन किए बल्ला या गैरी सोबर्स, विवियन रिचर्ड्स और सुनील गावस्कर जैसे दिग्गज खिलाड़ियों का आटोग्राफ की हुई तस्वीरें एक फैन के लिए कितनी अहमियत रखती हैं।

Read More : IPL 2021 : प्लेआफ की चौथी टीम के लिए जंग, रेस में 4 टीमें

क्रिकफ्लिक्स किसी भी कलाकृति या एतिहासिक लम्हे से जुड़ी चीजों को डिजिटली बदलने का प्लेटफॉर्म है। इन चीजों को डिजिटली बदलने के बाद वर्चुअल रिएलटी के जरिए बिल्कुल असली जैसा तैयार कर दिया जाता है। इससे लाखों एनएफटी फैंस के पास क्रिकेट से जुड़े यादगार मुकाबलों को अपने पास डिजिटली संग्रहण करने का मौका मिल जाता है। दरअसल, एनएफटी का तरह का डिजिटल टोकन होता है। इसे कॉपी नहीं किया जा सकता है और क्रिप्टोकरेंसी जैसे बदला नहीं जा सकता है।

Read More : दीपक चाहर के लिए मैच बनाया यादगार, स्टेडियम में सबके सामने घुटनों पर बैठकर अपनी गर्लफ्रेंंड को किया प्रपोज

Connect With Us : Twitter Facebook
SHARE

Sameer Sainihttp://indianews.in
Sub Editor @indianews | Quick learner with “can do” attitude | Have good organizing and management skills
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE