Thursday, May 19, 2022
HomeInternationalटेक जगत का तीसरा सबसे बड़ा सौदा मस्क-ट्विटर डील, यहां देखें सबसे...

टेक जगत का तीसरा सबसे बड़ा सौदा मस्क-ट्विटर डील, यहां देखें सबसे बड़ी सौदों की पूरी लिस्ट

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली:
सोमवार को दुनिया के सबसे आमिर व्यक्ति और टेस्ला के CEO एलन मस्क (Elon Musk) ने ट्विटर को खरीद लिया। ये सौदा 44 अरब डॉलर यानी 3368 अरब रुपए में हुआ। मस्क-ट्विटर डील (Musk-Twitter deal) टेक जगत में अब तक की तीसरी सबसे बड़ी डील है। मस्क-ट्विटर डील टेक जगत में अब तक की तीसरी सबसे बड़ी डील है। इससे पहले माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने गेमिंग सेक्टर में अपनी दस्तक देते हुए कैंडी क्रश गेम बनाने वाली कंपनी एक्टिविजन ब्लिजार्ड (Activision Blizzard) के साथ सबसे बड़ी डील 68.7 अरब डॉलर में की थी।

यह भी पढ़ें : Elon Musk ने 44 बिलियन डॉलर में ख़रीदा Twitter, हर शेयर के लिए 54 डॉलर में हुई डील

एलन मस्क ने ट्विटर को ऐसे खरीदा

मस्क ने कुछ समय पहले माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) में 9.2 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदी थी और उसके कुछ ही दिन बाद उन्होंने ट्विटर बोर्ड को पत्र लिखकर कंपनी को 100 फीसदी खरीदने का बड़ा ऑफर देकर सबको चौंका दिया। एलन मस्क ने तब 43 अरब डॉलर (3.2 लाख करोड़ रुपए) में ट्विटर को खरीदने का ऑफर दिया था, लेकिन ट्विटर बोर्ड ने इस ऑफर को मना कर दिया। इसके बाद सोमवार को ट्विटर बोर्ड ने मस्क के ऑफर पर पुनर्विचार करते हुए देर रात ये सौदा 44 अरब डॉलर (3.37 लाख करोड़ रुपए) में तय किया। मस्क को ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4148 रुपए) चुकाने होंगे।

माइक्रोसाफ्ट के नाम सबसे बड़ी डील

टेक जगत में अब तक की सबसे बड़ी डील पर हाल ही में बिल गेट्स (Bill Gates) की माइक्रोसॉफ्ट ने कैंडीक्रश वीडियो गेम बनाने वाली कंपनी एक्टिविजन ब्लिजार्ड को 68.7 अरब डॉलर (5.14 लाख करोड़ रुपए) में खरीदने पर मुहर लगाई। यह माइक्रोसॉफ्ट के 46 साल के इतिहास का सबसे बड़ा सौदा है। एक्टिविजन ब्लिजार्ड के गेम लाइनअप में कॉल ऑफ ड्यूटी, कैंडी क्रश, वॉरक्राफ्ट, डियाब्लो, ओवरवॉच और हार्थस्टोन शामिल हैं। इस डील से माइक्रोसॉफ्ट को एक्टिविजन के लगभग 40 करोड़ मंथली गेमिंग यूजर्स मिलेंगे। माइक्रोसॉफ्ट 95 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से एक्टिविजन को भुगतान करेगा।

दूसरे नंबर पर डेल-ईएमसी सौदा

लिस्ट में दूसरे नंबर पर 2015 में हुआ डेल (Dell) और ईएमसी (EMC) सौदा है। डेल इंक ने ईएमसी कॉर्प को 67 अरब डॉलर (5.12 लाख करोड़ रुपए) का भुगतान किया था। इससे दुनिया की निजी रूप से नियंत्रित सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी अस्तित्व में आ गई है। नई कंपनी डेल टेक्नोलॉजीज में डेल, डेल ईएमसी, पिवोटल, आरएसए, सिक्योरवर्क्स, वर्चुअलस्ट्रीम और वीएमवेयर शामिल हैं।

एवागो टेक ने ब्रॉडकॉम को 37 अरब डॉलर में खरीदा

लिस्ट में चौथे नंबर पर एवागो टेक्नोलॉजी (Wago technology) और चिपमेकर कंपनी ब्रॉडकॉम (Broadcom) का सौदा है। ये डील भी 2015 में हुई थी। उस समय इस सौदे की कीमत 37 अरब डॉलर (2.8 लाख करोड़ रुपए) थी। संयुक्त कंपनी अब ब्रॉडकॉम के नाम से जानी जाती है, लेकिन एवागो के रूप में व्यापार करती है। यह अमेरिका में सेमीकंडक्टर और इंफ्रास्ट्रक्चर सॉफ्टवेयर उत्पादों के सबसे बड़े आपूर्तिकर्ताओं में से एक बन चुकी है।


पांचवें-छठे नंबर पर ये करार

टेक जगत के सबसे बड़े सौदों की लिस्ट में पांचवे नंबर पर चिप निर्माता कंपनी एएमडी और जिलिंक्स डील है। 35 अरब डॉलर यानी 2.6 लाख करोड़ रुपए की ये डील अक्तूबर 2020 में हुई थी।

वहीं छठी बड़ी डील आईबीएम और रेडहैट के बीच हुई थी। जुलाई 2019 में विश्व की दिग्गज आईटी कंपनी आईबीएम ने सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी रेडहैट को 2.34 लाख करोड़ रुपए में ख़रीदा था।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

यह भी पढ़ें : Ramnavami Hanuman Jayanti Violence सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पूर्व CJI से जांच की याचिका

यह भी पढ़ें : Supreme Court में असिस्टेंट जूनियर ट्रांसलेटर के लिए 14 मई तक करें आवेदन

यह भी पढ़ें : जहांगीरपुरी में बुलडोजर पर सुप्रीम कोर्ट का ब्रेक Supreme Court Stops Demolition Drive

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
Vaibhav Shukla
Research, Write and Report – that’s my job | Sports Enthusiast | Working With @IndiaNews_itv @itvnetworkin | Life is Pareto 80/20
RELATED ARTICLES

Most Popular