Wednesday, May 18, 2022
HomeInternationalRussia Ukraine War: क्या यूक्रेन युद्ध में हो चुकी है ब्रिटेन की...

Russia Ukraine War: क्या यूक्रेन युद्ध में हो चुकी है ब्रिटेन की एंट्री? उतार दिए ये खतरनाक कमांडोज

British SAS Commandos in Ukraine: क्या यूक्रेन और रूस में चल रही जंग में अब ब्रिटिश सेना की भी एंट्री हो चुकी है। सोशल मीडिया में कई ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें ब्रिटिश कमांडोज भी रूसी सेना से लड़ते दिख रहे हैं।

British SAS Commandos in Ukraine

इंडिया न्यूज़, कीव। रशियन मीडिया में रिपोर्ट हैं कि ब्रिटेन ने अपनी SAS यूनिट के खतरनाक कमांडोज को यूक्रेन में रूस के खिलाफ लड़ने के लिए तैनात कर दिया है। वे यूक्रेनी सेना की वर्दी पहनकर रूसी सेना के खिलाफ अभियानों को अंजाम दे रहे हैं। डेली स्टार पोर्टल के मुताबिक रूस ने ब्रिटिश कमांडोज के जंग में उतरने की चर्चाओं की जांच कराने का आदेश दिया है। साथ ही खुले तौर पर ब्रिटेन को चेतावनी दी है कि अगर उसके कमांडोज छदमवेश में रूसी सेना के खिलाफ लड़ते पाए जाते हैं तो पकड़े जाने पर वह उनका सफाया कर सकता है। दरअसल, सोशल मीडिया पर एक फुटेज वायरल हो रही है. जिसमें 48 वर्षीय शॉन पिनर और 28 वर्षीय एडेन असलिन को रूसी सेना की हिरासत में दिख रहे हैं।

British SAS Commandos in Ukraine

British SAS Commandos in Ukraineसोशल मीडिया पर वायरल हो रही फुटेज में रूसी सैनिक विदेशी लड़ाकों को संबोधित करते हुए कहते हैं कि इससे पहले कि बहुत देर हो जाए, आप अपने घरो को लौट जाओ। वे यह भी कहते दिखते हैं कि पकड़े गए दोनों ब्रिटिश नागरिकों का भाग्य युद्ध में जीत हासिल करने वालों के हाथ में होगा।

रशियन मीडिया के अनुसार, ब्रिटिश सेना की स्पेशल एयर सर्विस (SAS) ने गुरिल्ला युद्ध में महारत हासिल रखने वाले अपने 2 ग्रुपों को यूक्रेन के लवीव क्षेत्र में भेजा है। SAS के कमांडो यूक्रेन में अपना बेस बनाकर रूस के खिलाफ आक्रामक कार्रवाइयों में लगे हुए हैं।

खुफिया मिशन को अंजाम देने में होते हैं माहिर
रूस की RIA Novosti न्यूज एजेंसी के मुताबिक ब्रिटेन की SAS सर्विस को दुनिया के देशों में विद्रोह भड़काने, मास प्रोटेस्ट रैलियां करवाने, राजनेताओं की कांट्रेक्ट किलिंग करवाने, एजेंट रिक्रूट करने और आतंकी हमले करवाने में महारत हासिल है।

एजेंसी के मुताबिक यह कोई सामान्य फोर्स नहीं है बल्कि हरेक ग्रुप में इंटेलेक्चुअल और आइडियोलॉजिस्ट शामिल होते हैं, जो विभिन्न हथियारों की ट्रेनिंग लिए होते हैं। लड़ाई के मोर्चे पर इसके कमांडोज मेडिकल वॉलंटियर्स बनकर काम करते रहते हैं।

पुतिन ने दिया जांच का आदेश
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में ब्रिटिश कमांडोज की एंट्री की जांच का जिम्मा अपने टॉप क्रिमिनल इन्वेस्टिगेटर Alexander Bastrykin को सौंपा है।

Alexander कॉलेज टाइम में पुतिन के क्लासमेट रह चुके हैं। इससे पहले द टाइम्स ने 16 अप्रैल को खबर प्रकाशित की थी कि SAS कमांडोज यूक्रेन में पहुंच चुके हैं और वे स्थानीय सैनिकों को युद्ध कला की ट्रेनिंग दे रहे हैं।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

यह भी पढ़ें : ऊना के गगरेट में पोल्ट्री फार्म में लगी आग, 5300 मुर्गे-मुर्गियां जिंदा जले

यह भी पढ़ें : दिल्ली में 24 घंटे के भीतर कोरोना के 1094 मरीज मिले, दो की मौत

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी के कश्मीर दौरे से पहले सेना ने चलाया आपरेशन, कुलगाम एनकाउंटर में दो आतंकी ढेर

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular