Thursday, May 26, 2022
HomeInternationalElon Musk ने 44 बिलियन डॉलर में ख़रीदा Twitter, हर शेयर के...

Elon Musk ने 44 बिलियन डॉलर में ख़रीदा Twitter, हर शेयर के लिए 54 डॉलर में हुई डील

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली:
आज रात से ट्विटर के नए मालिक टेस्ला CEO एलन मस्क (Elon Musk) बन गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार मस्क ने ट्विटर को खरीदने के लिए 44 बिलियन डॉलर यानी 3368 अरब रुपए खर्च किए हैं। इस हिसाब से मस्क ने ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4148 रुपए) चुकाए हैं। ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने रात 12 बजकर 24 मिनट पर एक प्रेस रिलीज में मस्क के साथ हुई डील के बारे में जानकारी दी।

डील होने से पहले मस्क ने दिया संकेत

इस डील के सार्वजनिक होने से पहले ही मस्क ने ट्वीट करके माइक्रो ब्लॉगिंग साइट को खरीदने के संकेत दे दिए थे। मस्क ने लिखा था- “उम्मीद है कि मेरे सबसे तीखे आलोचक ट्विटर पर बने रहेंगे। यही फ्री स्पीच के असल मायने हैं।”

ट्विटर खरीदने के लिए दिया था 43 अरब डॉलर का ऑफर

मस्क ने हाल ही में ट्विटर इंक (Twitter Inc.) को 43 अरब डॉलर में खरीदने का ऑफर दिया था। जिसके बाद से काफी विवाद होने लगा था, लेकिन अब 44 बिलियन डॉलर में डील फाइनल हो गई है।

इससे पहले सोमवार शाम को खबर आई थी कि कंपनी मस्क के दिए ऑफर पर फिर से विचार कर रही थी और किसी भी वक्त डील फाइनल होने की बात कही गई थी। ट्विटर अपना मालिकाना हक एलन मस्क को देने के लिए तैयार है। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्रांजैक्शन की शर्तों को तय करने पर काम कर रही है और अगर बातचीत उम्मीद के मुताबिक हो जाती है, तो सोमवार को किसी भी समय डील फाइनल हो सकती है।

बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने किया था डील का विरोध

मस्क के दिए ऑफर का विरोध करते हुए ट्विटर बोर्ड ने ‘पॉइजन पिल स्ट्रैटजी’ (Poison Pill Strategy) अपनाई थी। बोर्ड मेंबर्स का इस डील पर बातचीत के लिए तैयार होना यह दिखाता है कि मस्क ने इस Poison Pill की काट ढूंढ़ ली है। मस्क के पास मौजूदा समय में 9.2% शेयर हैं। मस्क ने शुक्रवार को कंपनी के कई शेयरहोल्डर्स के साथ मीटिंग की, उसके बाद से ही ट्विटर के रवैये में बदलाव देखने को मिला है।

ट्विटर को एक प्राइवेट कंपनी में बदलने की जरूरत

मस्क हमेशा से ही कहते आए हैं कि वे फ्रीडम ऑफ स्पीच के तरफदार हैं। ट्विटर को खरीदने के ऑफर देने के दौरान उन्होंने कहा था कि “इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फ्रीडम ऑफ स्पीच खतरे में है और वे सुनिश्चित करना चाहते हैं कि यह बनी रहे।”

एलन मस्क ने अपने प्रस्ताव में कहा था कि “मैंने ट्विटर में निवेश किया क्योंकि मुझे विश्वास है कि इसमें दुनिया भर में फ्री स्पीच का प्लेटफॉर्म बनने की क्षमता है, और मेरा मानना ​​​​है कि फ्री स्पीच एक फंक्शनिंग डेमोक्रेसी के लिए सामाजिक अनिवार्यता है। हालांकि, अपने निवेश के बाद से अब मुझे एहसास हुआ है कि वर्तमान स्वरूप में कंपनी न तो पनपेगी और न ही इस सामाजिक अनिवार्यता को पूरा करेगी। ट्विटर को एक प्राइवेट कंपनी के रूप में बदलने की जरूरत है।”

ये भी पढ़ें : दिल्ली के सत्य निकेतन में निर्माणाधीन इमारत गिरने का मामला अभी तक 5 को बचाया गया

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
Vaibhav Shukla
Research, Write and Report – that’s my job | Sports Enthusiast | Working With @IndiaNews_itv @itvnetworkin | Life is Pareto 80/20
RELATED ARTICLES

Most Popular