Sunday, October 24, 2021
HomeबिजनेसLack of Semiconductor Chip टाटा मोटर्स पर नहीं पड़ा खास असर, पिछले...

Lack of Semiconductor Chip टाटा मोटर्स पर नहीं पड़ा खास असर, पिछले साल की तुलना में बढ़ी यात्री और वाणिज्यिक वाहनों की सेल

Lack of Semiconductor Chip
इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
इस साल दुनियाभर के आटो बाजार पर सेमीकंडक्टर चिप की कमी होने से उत्पादन कम हुआ है। वहीं भारतीय आटो बाजार भी इससे अछूता नहीं रहा है। मारूति सुजूकी का सितम्बर में उत्पादन काफी कम रहा है। लेकिन अब एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत की दिग्गज वाहन निर्माता कंपनी Tata Motors पर पर सेमीकंडक्टर चिप की कमी का असर कम हुआ है। कंपनी की दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर की सेल में काफी इजाफा हुआ है।

Tata Motors की जगुआर लैंडरोवर समेत बाकी कारों की बिक्री भी इस दौरान अच्छी रही। साल-दर-साल की बात की जाएं तो टाटा ग्रुप की थोक बिक्री वित्तवर्ष 22 की दूसरी तिमाही में बढ़कर 251,689 यूनिट्स हो गई। पिछले साल इसी तिमाही में उसने 2,02,873 यूनिट बेची थीं। जगुआर लैंड रोवर सहित अपने वैश्विक थोक बिक्री में साल-दर-साल 24 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की। टाटा मोटर्स की बिक्री बढ़ाने में कार और वाणिज्यिक वाहनों दोनों की अहम भूमिका रही है। टाटा मोटर्स हर तिमाही अपनी ओवरआल बिक्री के आंकड़े जारी करती है।

Tata Motors की ओर से जारी बयान के मुताबिक जुलाई-सितंबर तिमाही में यात्री वाहन सेगमेंट की वैश्विक थोक बिक्री 1,62,634 यूनिट्स रही, जो पिछले साल इसी अवधि की तुलना में 10 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं अप्रैल-जून में टाटा मोटर्स की कुल बिक्री 2,14,250 यूनिट थी। यह भी 2020 की इसी अवधि की तुलना में 17 फीसदी बढ़ी है। इतना ही नहीं, Tata Motors के वाणिज्यिक वाहनों और टाटा देवू रेंज की वैश्विक थोक बिक्री जुलाई-सितंबर में 89,055 थी, जो वित्तवर्ष 21 की पिछले साल इसी अवधि की तुलना में 57 प्रतिशत ज्यादा है। कंपनी को पिछली तीनों तिमाही के दौरान फायदा मिला है।

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE