Friday, December 3, 2021
HomeLifestyle & FashionCorrect Way of Bathing इस प्रकार करें स्नान, तन-मन रहे तरोताजा

Correct Way of Bathing इस प्रकार करें स्नान, तन-मन रहे तरोताजा

Correct Way of Bathing : योग और आयुर्वेद में शरीर की ताजगी को बरकरार रखने के लिये स्नान के प्रकार और फायदे बताए गए हैं। बहुत देर तक और अच्छे से स्नान करने से जहां थकान और तनाव घटता है। वहीं यह मन को प्रसन्न कर स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायी होता है। शरीर की सफाई हो या फिर त्वचा की, यह एक अच्छे स्नान के द्वारा ही संभव हो सकती है। हर घर में देखा गया है कि लोग गर्म पानी का उपयोग कर दिनभर की थकान को दूर करते हैं और शरीर में ताजगी का अनुभव करते हैं।

Correct Way of Bathing

  • त्वचा के लिये कच्चा दूध फायदेमंद है। शहद के साथ अगर कच्चे दूध को मिलाकर त्वचा पर लगाया जाये तो त्वचा में निखार आता है। क्योंकि जिस प्रकार से शहद शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और संक्रमण की पुनरावृत्ति रोकता है, उसी प्रकार दूध में लैक्टिक एसिड मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद करती है और नई कोशिकाओं की पुनरावृति करती है। दूध एंव शहद एक अच्छे प्राकृतिक मॉस्चराइजर के रूप में काम करते हैं। इसे लगाने के लिये दोनों को मिलाकर त्वचा पर लगाएं फिर गुनगुने पानी के साथ स्नान कर लें। (Correct Way of Bathing)
  • प्राकृतिक रूप से बनाई जाने वाली रेड वाइन में एंटीआॅक्सीडेंट होने के साथ पॉलि-फिनौल भी होता है। शैंपेन में चमकती त्वचा प्रदान करने के गुण भी पाये जाते हैं। इसमें पाया जाने वाला रेसवेराट्रोल शरीर की सूजन को भी कम करने में मदद करता है।
  • दिनभर की थकान को दूर करने के लिये आप अपने बाथरूम में कई मोमबत्तीयां रोशन करके शीतल संगीत की धुन सुने। मंद प्रकाश की किरणों में किया गया स्नान आपके चारों ओर के वातावरण को बदलकर सुखद अहसास का अनुभव कराता है। इस तरह के स्नान से हमारे मन को शांति तो मिलती ही है, साथ ही शरीर की दिनभर की सारी थकान दूर होती है।
  • मिट्टी का उपयोग स्नान के समय करने से ये आपके चेहरे में प्राकृतिक चमक प्रदान करता है। यह सौन्दर्य का खजाना है। इसमें एन्टीसेप्टिक के गुण पाये जाते हैं, जो शरीर की गंदगी को दूर कर त्वचा संबंधी समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। ये नेचुरल कंडीशनर भी है। यह त्वचा की मृतकोशिकाओं को हटाता है और शरीर के रक्तसंचार में सुधार लाता है। इसे लगाने के लिये 400 से 500 ग्राम मिट्टी को 10 से 15 मिनट के लिये भिगोकर रख दें। फिर इसे अपने शरीर पर लगायें। इसे लगाने के बाद साबुन या किसी अन्य सफाई उत्पाद का उपयोग किए बिना शॉवर के नीचे बैठकर पूरे शरीर को अच्छी तरह से धो लें। इसके बाद आपके शरीर में ताजगी के साथ एक अलग सी चमक दिखाई देगी। (Correct Way of Bathing)
  • लैवेंडर में कई औषधीय गुण प्राकृतिक रूप से मिलते हैं। इसका इस्तेमाल अस्पताल में फर्श और दीवारों को कीटाणुरहित करने के लिए किया जाता है। इन तत्त्वों का उपयोग स्नान उत्पादों को सुगंधित करने में किया जाता है। दिनभर तरोताजा रहने के लिए एक कप दूध में लैवेंडर आॅयल की दो बूंदे मिलाएं। इसकी सुखद खुशबू शरीर में ताजगी के साथ आपको अनिद्रा से लड़ने और बेहतर नींद में मदद करती है। (Correct Way of Bathing)

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी फिटनेस व्यवस्था या चिकित्सकीय सलाह शुरू करने से पहले कृपया डॉक्टर से सलाह लें।

Read More : Designer Anklets ट्रेंडी और पारंपरिक लुक देती हैं डिजाइनर पायल

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

Sameer Sainihttp://indianews.in
Sub Editor @indianews | Quick learner with “can do” attitude | Have good organizing and management skills
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE