Tuesday, May 24, 2022
HomeLifestyle & Fashionगर्मियों में सही परफ्यूम से महके तथा महकाइए : शहनाज हुसैन

गर्मियों में सही परफ्यूम से महके तथा महकाइए : शहनाज हुसैन

गर्मियों में पसीने की दुर्गन्ध आम समस्या है जबकि एक सुखद सुगंध तन मन दोनों को आनंदित कर देती है। गर्मियों में परफ्यूम लगाना हर कोई पसन्द करता है और बाजार में आपको इसकी अनगिनित वैरायटी मिल जाती है।

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली

Shahnaz Hussain
Shahnaz Hussain

गर्मियों में पसीने की दुर्गन्ध आम समस्या है जबकि एक सुखद सुगंध तन मन दोनों को आनंदित कर देती है। गर्मियों में परफ्यूम लगाना हर कोई पसन्द करता है और बाजार में आपको इसकी अनगिनित वैरायटी मिल जाती है। कुछ लोगों में परफ्यूम लगाने का शौक किसी क्रेज से काम नहीं होता। क्योंकि जिसके पास से सुगन्ध आती है उसकी ओर दूसरे व्यक्ति खींचे चले जाते हैं।

गर्मियों में मूड को खुशमिजाज रखना बेहद जरूरी

गर्मियों में मूड को खुशमिजाज रखना बेहद जरूरी होता है तथा अधिकांश लोग इस दुविधा में रहते हैं की किस तरह का परफ्यूम लगाया जाये । क्योंकि पसीने की बदबू को रोकने तथा दिलो दिमाग में सकून पाने के लिए ऐसे परफ्यूम की जरूरत होती है। जोकि आपके त्वचा और व्यक्तित्व दोनों के अनुकूल हो तथा आपको फील गुड का अहसास करवा सके।

सस्ते और घटिया परफ्यूम का न करें प्रयोग

यह ध्यान रखें की सस्ते और घटिया परफ्यूम से आप को स्किन एलर्जी हो सकती है तथा त्वचा पर छाले भी पड़ सकते हैं। अगर आपको किसी ब्रांड का परफ्यूम अनुकूल लगता हो तो उसे उपयोग करते रहें तथा बार बार ब्रांड न बदलें। कभी भी परफ्यूम को शरीर के खुले अंगों पर न लगाएं क्योंकि इससे रिएक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है।

परफ्यूम खरीदने से पहले इसमें एसिड की मात्रा जरूर चेक कर लें क्योंकि एसिड की मात्रा ज्यादा होने से शरीर में खुजली, रैशेस आदि की समस्या हो सकती है। परफ्यूम की उपयोगिता चेक करने इसे अपनी कलाई पर दस मिनट तक लगाएं। यदि उस भाग पर दस मिनट तक कोई खुजली या काला धब्बा नहीं पड़ता तो यह आपकी त्वचा के अनुकूल हैं। हमेशा प्राकृतिक खुश्बू बाला परफ्यूम बेहतर साबित होता है।

यह एक सामान्य नियम है की लड़कियों को हल्का व लड़कों को स्ट्रांग परफ्यूम का उपयोग करना चाहिए। यह ध्यान रखें की परफ्यूम खरीदने से पहले इसकी सुगन्ध की जाँच स्टोर के बाहर जरूर कर लें क्योंकि स्टोर के अन्दर एयर कंडीशनिंग का असर परफ्यूम की सुगन्ध पर पड़ता है।

व्यक्तित्व से मैच करता हुआ प्रफ्यूम उपयोग करें

बदलते मौसम में जैसे हम पहनावे, आभूषण, फुटवेयर का चुनाव करते है वैसे ही हर मौसम तथा अवसर पर आपके व्यक्तित्व से मैच करता हुआ प्रफ्यूम उपयोग करें तो आप ताजगी तथा आनन्दित महसूस करेगे। गर्मियों में धूल, मिट्टी, गन्दगी, पसीना, शाम तक पूरे शरीर को बदबूदार बना देते है ऐसे में आपके शरीर के नेचूरल कैमिकल्स के साथ मेल खाते परफ्यूम आपके लिए सबसे बेहतर साबित होंगे।

परफ्यूम का सही चयन आपके व्यक्तित्व से जुड़ जाता है तथा आपके लाईफ स्टाईल की निशानी बन जाता है। गर्मियेां में खुशबू तेजी से छूमंतर हो जाती है इसलिए ऐसे में फूलों को खुशबू वाले परफ्यूम आपके मूड को बुलन्द करेेंगे तथा मौसम के हिसाब से सबसे बेहतर साबित होंगे गर्मियों में हम अक्सर ज्यादातर समय पार्टियों, घूमने-फिरने, पहाड़ों तथा समुंद्र किनारे वक्त गुजारने तथा खाने-पीने में ज्यादा मशगूल रहते हैं तथा हमारे ज्यादातर अंग नंगे रहते है जिन पर सूरज की किरणें सीधी पड़ती हैं।

ऐसे में सही परफ्यूम का चुनाव मुश्किल हो जाता है। गर्मियों में उच्च सान्द्रता के शुद्ध परफ्यूम का चयन करना चाहिए ताकि यह गर्मी तथा आर्द्रता झेल सके। गर्मियों में आपके अपने व्यक्तित्व में मेल खाता परफ्यूम चुनना चाहिए जोकि लम्बे समय तक खुशबू प्रदान कर सके।

गर्मियों में तरोताजा रहना काफी कठिन

गर्मियों में जीवन्त, तरोताजा रहना काफी कठिन होता है तथा हम जयादातर समय ठण्डक की तलाश में रहते है। गर्मियों में पसीने की बदबू जहां हमारा मूड खराब कर देती है वहीं दूसरी ओर उससे आदमी असहज महसूस करता है तथा पसीने की दुर्गन्ध से उसे कई बार शर्मिन्दगी झेलनी पड़ती है।

हालांकि शरीर से पसीना आना प्राकृतिक प्रक्रिया है लेकिन जब यह पसीना बैकटीरिया से मिलता है तो दुर्गन्ध पैदा होती है डीओडरैन्ट, टैल्कम पाउडर तथा परफ्यूम का सही चुनाव पसीने की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने में मददगार साबित होते है।
ज्यादातर डीओडरैन्ट शरीर से पसीने को रोकने का काम करते है तथा ऐसे में रोल-आन की बजाय स्पे्र ज्यादा उपयुक्त माना जाता है।

गर्मियों के मौसम में हल्की खुशबू का डियोडरैन्ट ज्यादा असरदायक

गर्मियों के मौसम में हल्की खुशबू का डियोडरैन्ट ज्यादा असरदायक माना जाता है। क्येांकि तेज खुशबू वाले पसीने को रोकने वाले डियोडरैन्ट के प्रयोग से त्वचा में जलन या रिएक्शन हो सकता है।

ज्यादातर परफ्यूम के नियमित प्रयोग से पहले उन्हें शरीर के छोटे से हिस्से पर प्रयोग में लाना चाहिए तथा अगर त्वचा पर जलन झन-झनाहट, सिहरन महसूस हो तो ऐसे परफ्यूम का उपयोग तत्काल बन्द कर देना चाहिए। कुछ लोग टैल्कम पाउडर काफी उपयोग करते है।

हालांकि हाइजीन की दृष्टि से टैल्कम पाउडर ज्यादा उपयोगी नहीं माने जाते है लेकिन वह पसीने को तत्काल सोख लेते है शरीर में ताजगी का अहसास दिलाते है। गुलाब, चन्दन तथा खस प्राकृतिक कूलन्ट माने जाते हैं इसलिए इनके घटकों से बने पाउडर या डीयोडरैन्ट गर्मियों में ज्यादा उपयोगी माने जाते है। बाजार में बिकने वालें ज्यादा परफ्यूम रसायनिक पदार्थो के मिश्रण से बने होते है।

परफ्यूम को अपनी त्वचा पर परीक्षण के बाद ही प्रयोग में लाना चाहिए

इनमें सुगन्धित तेलों को सिन्थेटिक सामग्री से मिश्रित किया जाता है तथा उन्हें विभिन्न स्त्रोतों से प्राप्त की गई खुशबू से बनाया जाता है। सही परफ्यूम का चयन करती बार कुछ चीजों का ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

जिसमें शारीरिक केमिस्ट्री सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि व्यक्तित्व पसन्द/नापसन्द काफी अहम भूमिका अदा करती है। इसलिए परफ्यूम को अपनी त्वचा पर परीक्षण के बाद ही प्रयोग में लाना चाहिए। परफ्यूम की सही खुशबू का अन्दाजा त्वचा के सम्पर्क में आने से ही महसूस किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें :आखिर क्यों हो जाते हैं होंठ काले, जानें उन कारणों को

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

 Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
SHARE
Mukta
Sub-Editor at India News, 7 years work experience in punjab kesari as a sub editor, I love my work and like to work honestly
RELATED ARTICLES

Most Popular