Thursday, January 27, 2022
HomeNationalRansom From Parents सट्टे में कर्ज हुआ तो अपने ही अपहरण की...

Ransom From Parents सट्टे में कर्ज हुआ तो अपने ही अपहरण की साजिश रचकर माता-पिता से मांगी 20 लाख की फिरौती

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली/पटना:

Ransom From Parents बिहार से माता-पिता ने आईएएस की तैयारी करवाने के लिए अपने बेटे को दिल्ली भेजा लेकिन उसने ऐसी हरकत कर डाली जिसे पढ़ और सुनकर हर कोई हतप्रभ रह जाएगा। दरअसल, मेहताब हाशमी नाम के इस युवक को दिल्ली आकर सट्टेबाजी की लत लग गई और जब वह इसमें हारा और कर्जदार हो गया तो उसने कर्ज उतारने के लिए अपने ही घर वालों से वसूली की साजिश रच डाली। वो भी हजारों नहीं लाखों रुपए वसूलने की प्लान बनाई। हालांकि पुलिस ने उसकी इस प्लान पर पानी फेर दिया।

आरोपी युवक चंपारण का मेहताब आनलाइन खेलता था सट्टा (Ransom From Parents)

दरअसल, चंपारण जिले का एक दंपति अपने 20 साल के बेटे को आईएएस बनाना चाहता था और उसने इसके लिए सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करवाने के लिए देश की राजधानी दिल्ली भेजा था।

माता-पिता पढ़ाई-लिखाई के अलावा उसे सारा खर्च दे रहे थे, लेकिन उन्हें क्या पता था कि उनका लाल खून-पसीने की उनकी कमाई को सट्टेबाजी में उड़ा रहा है। दरअसल, यह युवक आॅनलाइन सट्टा खेलने लग गया था और इसमें जब वह हार गया तो उसके ऊपर कर्ज हो गया और उसने खुद का अपहरण कर अपने माता-पिता से 20 लाख रुपए की फिरौती वसूलने की साजिश रच डाली। जब माता-पिता को अपने बेटे की इस करतूत का पता चला तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई।

अपहरण का भरोसा दिलाने के लिए युवक ने मां को भेजा था रोने की आवाज का वीडियो (Ransom From Parents)

युवक ने अपने अपहरण का माता-पिता को भरोसा दिलाने के लिए व्हाट्सएप पर रोने का भी एक वीडियो डाला। माता-पिता ने जब इस वीडियो को देखा तो इसी महीने आठ जनवरी को युवक के पिता मोहम्मद अजीजुल हक बिहार में चंपारण के राजेंद्र नगर थाने में अपने बेटे के लापता होने की शिकायत दर्ज कराने पहुंचे।

अजीजुल ने शिकायत में बताया कि उनका बेटा मेहताब हाशमी दिल्ली के राजेंद्र नगर स्थित कोचिंग सेंटर में सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहा है और वह तीन दिन से गायब है। उसके साथ उनका कोई संपर्क नहीं हो पा रहा। अजीजुल ने बताया कि बेटा दिल्ली के वजीराबाद इलाके में रहता है लेकिन उनके पास उसके निवास का पता नहीं है।

दो बार भेजे थे पांच-पांच लाख रुपए : पिता (Ransom From Parents)

मेहताब के पिता मोहम्मद अजीजुल हक ने यह भी बताया कि गत सितंबर में उन्होंने बेटे को पढ़ाई के लिए दो बार में पांच लाख रुपए भेजे थे। अजीजुल ने कहा कि इसी माह छह जनवरी को उनकी पत्नी के मोबाइल पर एक रिकार्डेड मैसेज उनके बेटे के मोबाइल से आया, जिसमें बताया गया कि मेहताब का अपहरण कर लिया गया है और अपहरणकर्ताओं के चंगुल से उसे मुक्त करवाने के लिए 20 लाख रुपए चाहिए। उन्होंने बताया कि बातचीत के बाद अपहरणकर्ता 10 लाख रुपए में मेहताब को छोड़ने पर तैयार हो गए हैं।

Also Read  Karnataka Crime : पत्नी ने पोर्न सामग्री देखने से रोका तो पति के साथ सास व ससुर ने भी किया Misbehave

दिल्ली पुलिस ने सर्विलांस की मदद से दबोचा (Ransom From Parents)

मध्य जिले के राजेंद्र नगर थाने में नौ जनवरी को अपहरण का केस दर्ज किया गया। इसके बाद पुलिस को टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पता चला कि मेहताब का मोबाइल वजीराबाद इलाके में एक्टिव है। पुलिस की टीम ने वहां छापेमारी कर उसे पकड़ लिया। फिर मेहताब ने पुलिस को बताया कि वह आनलाइन सट्टा खेलता है जिसमें उसे काफी नुकसान हुआ था और इस वजह से उस पर काफी कर्ज हो गया था।

मेहताब ने बताया कि कर्ज चुकाने के लिए उस पर काफी दबाव था, इसलिए उसने अपने अपहरण की साजिश रचकर अपने परिजनों से उगाही की कोशिश की। उसने बताया कि उसने अपने रोने का वीडियो मां के व्हाटसऐप पर भेजा था ताकि उन्हें लगे कि वह अपहरणकर्ताओं के चंगुल में है और उनके कब्जे से मुक्त होने के लिए रो रहा है। (Ransom From Parents)

Also Read : Bihar Crime पटना के एक होटल में कोलकाता की महिला एंकर के साथ गैंगरेप

Read More :Rape incidents in India : 2020 में दुष्कर्म की 28,046 घटनाएं, रोज 77 महिलाओं से दरिंदगी

Connact Us: Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE