Wednesday, December 8, 2021
HomeNationalVHP International President Alok Kumar: हिंदुत्व के प्रति दुर्भावना गलत, बोले विहिप...

VHP International President Alok Kumar: हिंदुत्व के प्रति दुर्भावना गलत, बोले विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
VHP International President Alok Kumar: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के पुस्तक पर जमकर विवाद हुआ। हिंदुत्व को लेकर तमाम तरह की बातें हुईं। सलमान खुर्शीद ने भी अपनी सफाई दी, लेकिन हिंदुवादी संगठन उससे संतुष्ट नहीं हुए। इस विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने भी अपनी बेबाक टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि आतंकी संगठनों से हिंदुत्व की तुलना करना बेहद शमार्नाक और दुखद है। कई अहम बिंदुओं पर विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार से इंडिया न्यूज और दैनिक आज समाज के संपादकीय निदेशक आलोक मेहता से खास बातचीत हुई। प्रस्तुत है बातचीत के कुछ संपादित अंश।

आईएस से हिंदुत्व की तुलना से आहत VHP International President Alok Kumar

आलोक कुमार ने कहा कि सलमान खुर्शीद को मैंने कोर्ट में देखा है। हम विदेशों में भी भारत की तरफ से इकट्ठा गए थे। मैं उनको एक समझदार आदमी मानता हूं। आईएस से हिंदुत्व की तुलना से मैं आहत हूं। आइएस ने पूरे विश्व में हिंसा और आतंक की घटनाएं की हैं, अपहरण की घटनाएं की हैं। उससे हिंदुत्व की तुलना दुखद और शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि सलमान कभी-कभी उत्तेजित हो जाते हैं। जब उनकी पत्नी विधानसभा का चुनाव लड़ रहीं थीं और वो पराजित हो रहीं थीं। उस समय के उनके बयान को मैंने देखा कि बड़े उत्तेजित होकर वो दे रहे थे, जो संगत नहीं थी। इसलिए कुछ पब्लिसिटी तो मिली, कुछ किताब बिके तो सही, किताब पर चर्चा तो हो।

सत्य और असत्य को छांटने की क्षमता पर भरोसा VHP International President Alok Kumar

आलोक कुमार ने कहा कि मैं विश्व समाज की बुद्धिमता पर भरोसा रखता हूं। सत्य और असत्य को छांटने की क्षमता पर भरोसा रखता हूं। अभी एक बड़ा सम्मेलन हुआ, जिसमें कुछ वक्ताओं ने ये कहा कि हम ग्लोबल हिंदुत्व को डिसमेंटल कर देंगे। 50 से अधिक लोग नहीं जुटे उनको सुनने के लिए। इसलिए मीडिया में पब्लिसिटी देना एक बात है, ट्वीट कर देना एक बात है और उसके लिए समर्थन जुटाना अलग बात है। आज के लोग मिसलीड नहीं होते। विश्व भर में हिंदू समाज रहता है, किसी एक भी देश में वो वहां की शांति को भंग करने वाला नहीं बना वो कानून व्यवस्था को नुकसान पहुंचाने वाला नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि मोटे तौर पर मैं कहूंगा कि ये स्वीकारता और स्वाधीनता का दर्शन है। स्वीकारता इस बात की कि आपका और मेरा रास्ता अलग हो सकता है। मेरी ये श्रद्धा हो सकती है कि मेरा रास्ता ही मेरे लिए ठीक है। मैं सदैव ये भी मानता हूं कि आपका रास्ता भी सत्य है और इसलिए निराकार की पूजा करना भी सत्य है। साकार की पूजा करना सत्य है। मूर्ति की पूजा करना सत्य है। शालीग्राम की पूजा करना सत्य है। यज्ञ की ज्वालाएं सत्य है।

Read More: Amarinder Singh Will contest from Patiala पटियाला से ही चुनाव लड़ेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE