क्या CM आवास को गंगाजल से धुलवाना पिछड़ों का अपमान नहीं? बीजेपी पर बरसे अखिलेश

इंडिया न्यूज़ : ‘सारे मोदी चोर होते है।’ इस विवादित बयान पर राहुल गांधी को 2 साल की सजा और संसद की सदस्यता जा चुकी है। राहुल की संसद सदस्य्ता जाने पर कांग्रेस के साथ पूरा विपक्ष बीजेपी सरकार पर हमलावर है। बता दें, राहुल की सांसदी जाने पर विपक्ष की और से आलोचना के क्रम में अखिलेश यादव ने सरकार पर निशाना साधा है। अखिलेश ने कहा है कि जब CM आवास को गंगाजल से धोया गया तो क्या वह पिछ़ड़ों का अपमान नहीं था? क्या सरकार और विपक्ष के लिए पिछ़ड़े अलग-अलग हैं। अब कांग्रेस की जिम्मेदारी है कि वह रीजनल पार्टियों को आगे करें, जिससे अगले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी से मुकाबला किया जा सके।

CM आवास को गंगाजल से धुवालाना पिछड़ों का अपमान नहीं?

बता दें, ‘सारे मोदी चोर होते है’ इस मुद्दे को सत्तारूढ़ पार्टी पिछड़े समाज का अपमान बता कर भुना रही है। जिसपर अखिलेश ने कहा है कि आज BJP के बड़े नेता से लेकर छोटे नेता राहुल गांधी के बयान को पिछड़ों का अपमान बता रहे हैं। लेकिन यहीं नेता उस समय क्यों नहीं बोले जब CM आवास को गंगाजल से धुलवाया गया था। क्या उस समय पिछड़ों का अपमान नहीं हुआ था? अखिलेश ने यहां तक कहा कि BJP के लोग सिर्फ अपना फायदा देखते हैं।

जानें,CM आवास को गंगाजाल से धुलवाने का विवाद

मालूम हो, 2017 का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में BJP ने जीता दर्ज की थी। यूपी चुनाव हारने के बाद तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने 4 कालीदास मार्ग पर बने अपने सरकारी बंगले को खाली कर दिया। अखिलेश द्वारा बंगला खाली करने के बाद प्रदेश के नए मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ ने CM आवास में रहने से पहले उसमें गृह प्रवेश कराया था। उस वक्त मीडिया में ऐसी खबरें आई, जिसमें बताया गया कि CM आवास को गंगाजल से धुला गया है।

SHARE
Latest news
Related news