Wednesday, October 27, 2021
HomeTrendingSecurity Forces in Action: आतंकी हमलों के बाद सुरक्षाबल एक्शन में, हिरासत...

Security Forces in Action: आतंकी हमलों के बाद सुरक्षाबल एक्शन में, हिरासत में लिए 570 संदिग्ध लोग

इंडिया न्यूज, श्रीनगर:
Security Forces in Action: पिछले सप्ताह में 5 आम लोगों की हत्या से अल्पसंख्यकों में भय बना हुआ है। जम्मू-कश्मीर में अल्पसंख्यकों पर आतंकी हमले के मामले सामने आने के बाद सुरक्षाबल एक्शन (Security Forces in Action) में आ चुके हैं। घाटी के कुछ पत्थरबाजों और भारत विरोधी तत्वों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई है। लगभग 70 युवाओं को श्रीनगर में हिरासत में लिया गया। पूरे कश्मीर में 570 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Security Forces in Action in Jammu and Kashmir after 5 innocent civilians killed

जम्मू-कश्मीर में एक सप्ताह के अंदर 5 निर्दोष नागरिकों को ‘लक्ष्य बनाकर हत्या’ किए जाने के बाद दिल्ली से लेकर श्रीनगर तक सनसनी मची हुई है। जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात करने के बाद गृह मंत्रालय ने देश की सुरक्षा एजेंसियों के टॉप एक्सपर्ट को कश्मीर भेज दिया है। इसी बीच सीआरपीएफ पर भी एक आम नागरिक की जान लेने का आरोप लगा है।

Security Forces in Action बड़े अभियान की तैयारी

सूत्रों के अनुसार आतंकवादियों के खिलाफ ताजा अभियान शुरू होने की संभावना है। यूं तो आतंकियों के खिलाफ नियमित अभियान उडश्कऊ लहर के दौरान भी जारी रहा, लेकिन अब निर्दोष नागरिकों की हत्या करने वालों के खिलाफ एक बड़ा हमला शुरू होने की उम्मीद की जा रही है।

Security Forces in Action अब तक 25 नागरिकों की हुई हत्या

आंकड़ों के मुताबिक, इस साल कश्मीर में कम-से-कम 25 नागरिक मारे जा चुके हैं। इन 25 में से तीन गैर-स्थानीय थे, दो कश्मीरी पंडित थे और 18 मुसलमान लोग थे। सबसे ज्यादा 10 हमले श्रीनगर में हुए, इसके बाद पुलवामा और अनंतनाग में चार-चार घटनाएं हुई हैं।

 

Read More : मंडी में गरजे कन्हैया कुमार, बोले- पूरी सरकार विज्ञापन से चल रही

Read More : Devendra Rana जम्मू-कश्मीर में नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह राणा ने दिया इस्तीफा

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE