Sunday, October 24, 2021
Homeधर्मShardiya Navratri 2021 शरद नवरात्रि इस बार 8 दिन में समाप्त

Shardiya Navratri 2021 शरद नवरात्रि इस बार 8 दिन में समाप्त

Shardiya Navratri 2021

मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्, चंडीगढ़

शारदीय नवरात्रि 7 अक्टूबर, गुरुवार से शुरू हो रहे हैं। नवरात्रि 15 अक्टूबर, शुक्रवार को संपन्न होंगे। नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की उपासना की जाती है।
इस बार आठ दिन के नवरात्रि में मां भगवती डोली पर सवार होकर पधारेंगी। गुरुवार व शुक्रवार को नवरात्रि का आरंभ हो तो मां डोली पर सवार होकर आती हैं।

इस वर्ष नवरात्रि आठ दिन के होंगे (Navratri 2021 will be of eight days)

नवरात्र की तिथियों का घटना व श्राद्ध की तिथियों का बढ़ना अशुभ है। अच्छा संकेत नहीं है। तृतीया और चतुर्थी दोनों एक ही दिन है। नौ अक्तूबर शनिवार को प्रात: 7.48 बजे तक तृतीया है बाद में चतुर्थी प्रारंभ हो जाएगी। 15 अक्तूबर को दोपहर में दशमी है। इसलिए दशहरा पूजन शुक्रवार को मनाया जाएगा। चित्रा नक्षत्र व वैधृति योग के चलते घट स्थापना ब्रह्ममुहूर्त अथवा अभिजीत मुहूर्त में ही शुभ रहेगी।

October 2021 Vrat Festival List जानें अक्टूबर में कब कौन सा त्योहार है?

शारदीय नवरात्रि 2021 का शुभ मुहूर्त (Muhurt time for Shardiya Navratri 2021)

प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ: 6 अक्टूबर शाम 4 बजकर 35 मिनट से शुरू

प्रतिपदा तिथि समाप्त: 7 अक्टूबर दोपहर 1 बजकर 46 मिनट तक

घटस्थापना का मुहूर्त (navratri ghatasthapana 2021 muhurat)

7 अक्टूबर को घटस्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 17 मिनट से सुबह 7 बजकर 7 मिनट तक का है।

शारदीय नवरात्रि 2021 तिथियां (Shardiya Navratri 2021 Dates)

7 अक्टूबर- मां शैलपुत्री की पूजा गुरुवार, प्रतिपदा तिथि व चित्रा नक्षत्र:- इस दिन मां शैलपुत्री के रूप में दो वर्ष की कन्या का गाय के घी से निर्मित हलवा व मालपूए का भोग लगाए।

8 अक्टूबर- मां ब्रह्मचारिणी की पूजा शुक्रवार, द्वितीया तिथि स्वाति नक्षत्र:- विजय प्राप्ति व सर्वकार्य सिद्धि के लिए तीन वर्ष की कन्या का मां ब्रह्मचारिणी के रूप में पूजा कर मिश्री व शक्कर ने बने पदार्थ का भोग लगाए।

9 अक्टूबर- मां चंद्रघंटा व मां कुष्मांडा की पूजा तृतीया व चतुर्थी तिथि शनिवार विशाखा/अनुराधा नक्षत्र:-दुखों के नाश व सांसारिक कष्टों से मुक्ति के लिए चार व पांच वर्ष की कन्या का मां चंद्रघंटा/कुष्मांडा के रूप में पूजन कर दूध से निर्मित पदार्थों व मालपुए का भोग अर्पित करें।

10 अक्टूबर- मां स्कंदमाता की पूजा रविवार पंचमी तिथि व अनुराधा नक्षत्र:- विद्यार्थियों को परीक्षा में सफलता व मनोकामना पूर्ति के लिए छह वर्ष की कन्या का मां स्कंदमाता के स्वरूप में पूजन कर माखन का भोग लगाएं।

11 अक्टूबर- मां कात्यायनी की पूजा सोमवार षष्ठी तिथि व ज्येष्ठा नक्षत्र:- चारों पुरुषार्थ व रूप लावण्य की प्राप्ति के लिए सात वर्ष की कन्या का मां कात्यायनी के स्वरूप में पूजन कर मिश्री व शहद का भोग समर्पित करें।

12 अक्टूबर- मां कालरात्रि की पूजा मंगलवार, सप्तमी तिथि व मूल नक्षत्र:- नवग्रह जनित बाधाएं व शत्रुओं के नाश के लिए आठ वर्ष की कन्या का मां कालरात्रि के स्वरूप में पूजा अर्चना कर दाख, गुड़ व शक्कर का नैवेद्य अर्पित करें।

13 अक्टूबर- मां महागौरी की पूजा बुधवार अष्टमी तिथि व पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र:- नौ वर्ष की कन्या का महागौरी स्वरूप में पूजन कर गाय के घी से निर्मित पदार्थ व श्रीफल का भोग लगाये।

14 अक्टूबर- मां सिद्धिदात्री की पूजा गुरुवार, नवमी तिथि व उत्तराषाढ़ा नक्षत्र :- परिवार में सुख समृद्धि, भय नाश व मनोकामना पूर्ति के लिए 10 वर्ष की कन्या का मां सिद्धिदात्री व नवदुर्गा स्वरूप में पूजन कर खीर, हलवा व सूखे मेवे का भोग लगाए।

15 अक्टूबर- दशमी तिथि, विजयादशमी या दशहरा

शारदीय नवरात्रि 2021 घट स्थापना की विधि (navratri ghatasthapana 2021 ki vidhi)

नवरात्रि के प्रथम दिन ही घटस्थापना की जाती है। इसे कलश स्थापना भी कहा जाता है। इसके लिए कुछ सामग्रियों की आवश्यकता होती है।

  • जल से भरा हुआ पीतल
  • चांदी, तांबा या मिट्टी का कलश
  • पानी वाला नारियल
  • रोली या कुमकुम, आम के 5 पत्ते
  • नारियल पर लपेटने के लिए लाल कपड़ा या चुनरी
  • लाल सूत्र/मौली
  • साबुत सुपारी, साबुत चावल और सिक्के
  • कलश ढकने के लिए ढक्कन और जौ

यह है कलश स्थापना की पौराणिक विधि (navratri 2021 kalash sthapna ki pauranik vidhi)

मां दुर्गा की मूर्ति के दाईं तरफ कलश को स्थापित किया जाना चाहिए। जिस स्थान पर कलश स्थापित करना है वहां पर किसी बर्तन के अन्दर मिट्टी भरकर रखें या फिर ऐसे ही जमीन पर मिट्टी का ढेर बनाकर उसे जमा दें। यह मिट्टी का ढेर ऐसे बनाएं कि उस पर कलश रखने के बाद भी कुछ जगह बाकी रह जाए। कलश के ऊपर रोली अथवा कुमकुम से स्वास्तिक बनाएं। इसके बाद कलश पर मौली बांध दें। इसके बाद कलश में थोड़ा गंगाजल डालें और बाकी शुद्ध पीने के पानी से कलश को भर दें। जल से भरे कलश के अंदर थोड़े से अक्षत (चावल), 2-4 दूर्वा घास, साबुत सुपारी, और 1 या दो रुपये का सिक्का डालकर चारों ओर आम के 4-5 पत्ते लगा दें। फिर मिट्टी या धातु के बने ढक्कन से कलश को ढक दें। इस ढक्कन पर भी स्वास्तिक बनाएं।

इस ढक्कन पर आपको स्वस्तिक बनाना होगा। फिर उस ढक्कन पर थोड़े चावल रखने होंगे। फिर एक नारियल पर लाल रंग की चुनरी लपेटें। इसे तिलक करें और स्वास्तिक बनाएं। नारियल को ढक्कन के ऊपर चावल के ढेर के ऊपर रख दें। नारियल का मुख हमेशा अपनी ओर ही रखे चाहे आप किसी भी दिशा की ओर मुख करके पूजा करते हों। दीपक का मुख पूर्व दिशा की ओर रखें। अगर शारदीय नवरात्र व्रत हो तो कलश के नीचे बची जगह पर अथवा ठीक सामने जौं बोने अच्छे होते हैं।

शारदीय नवरात्रि कन्या पूजन 2021 (Shardiya Navratri Kanya Pujan 2021)

नवरात्रि में व्रत के साथ कन्या पूजन का बहुत महत्व होता है। जो लोग नवरात्रि के 9 दिनों का व्रत रहते हैं या फिर पहले दिन और दुर्गा अष्टमी का व्रत रखते हैं, वे लोग कन्या पूजन करते हैं। कई स्थानों पर कन्या पूजन दुर्गा अष्टमी के दिन होता है और कई स्थानों पर यह महानवमी के दिन होता है। 01 से लेकर 09 वर्ष की कन्याओं को मां दुर्गा का स्वरुप माना जाता है, इसलिए उनकी पूजा की जाती है। (navratri, navratri 2021, navratri images, navratri wishes, happy navratri, happy navratri 2019, happy navratri images, happy navratri wishes, happy navratri wishes images, happy navratri wallpaper, happy navratri photo, navratri status, happy navratri status, happy navratri messages, navratri messages, navratri whatsapp messages, happy navratri messages for whatsapp, navratri photos, navratri wishes, navratri, navratri 2021, navratri images, navratri wishes, happy navratri, happy navratri 2021, happy navratri images, happy navratri wishes, happy navratri wishes images, happy navratri wallpaper, happy navratri photo, navratri status, happy navratri status, happy navratri messages, navratri messages, navratri whatsapp messages, happy navratri messages for whatsapp, navratri photos, navratri wishes)

Read Full Puja Vidhi of All Mata

Navratri 2021 Day 1 Maa Shailputri Puja Vidhi

Navratri 2021 Day 2 Maa Brahmacharini Puja Vidhi

Navratri 2021 3rd Day Maa Chandraghanta Puja Vidhi

Navratri 2021 Day 4 Maa Kushmanda Puja Vidhi

Navratri 2020 5th Day Maa Skandamata Puja Vidhi

Navratri 2021 6th Day Maa Katyayni Puja Vidhi

Navratri 2021 7th Day Maa Kalratri Puja Vidhi

Navratri 2021 8th Day Maa Mahagauri Puja Vidhi

Navratri 2021 9th Day Maa Siddhidatri Puja Vidhi

Connact Us: Twitter Facebook

SHARE

Amit Guptahttp://indianews.in
Managing Editor @aajsamaaj , @ITVNetworkin | Author of 6 Books, Play and Novel| Workalcholic | Hate Hypocrisy | RTs aren't Endorsements
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE