Thursday, May 26, 2022
HomeUttar PradeshYogi Government यूपी में हर साल होगा दस लाख लीटर एथेनाल का...

Yogi Government यूपी में हर साल होगा दस लाख लीटर एथेनाल का उत्पादन

उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) में अब हर साल दस लाख लीटर एथेनाल का उत्पादन होगा। राज्य की योगी सरकार (yogi government) ने बड़े पैमाने पर प्रदेश में एथेनाल उत्पादन के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर वसूला जाएगा टोल, रसोइयों-अनुदेशकों का वेतन बढ़ा

अजय त्रिवेदी, लखनऊ:
उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) में अब हर साल दस लाख लीटर एथेनाल का उत्पादन होगा। राज्य की योगी सरकार (yogi government) ने बड़े पैमाने पर प्रदेश में एथेनाल उत्पादन के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इसी के साथ पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर टोल टैक्स वसूला जाएगा। प्रदेश में काम कर रहे अनुदेशकों और स्कूलों के रसोइयों का वेतन भी बढ़ा दिया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की अध्यक्षता में आज हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित किए गए।

सुधरेगी चीनी मिलों की आर्थिक स्थिति : नंदगोपाल गुप्ता

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना व औद्योगिक विकास मंत्री नंदगोपाल गुप्ता ने मंत्रिपरिषद के फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यपी अब बड़े पैमाने पर खुद ही एथेनाल का उत्पादन शुरू करेगा। एथेनाल उत्पादन शुरू होने से चीनी मिलों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और गन्ना किसानों को भुगतान में परेशानी नहीं होगी। प्रदेश में अब तक हिन्दूस्तान पेट्रोलियम के जरिए चीन से एथेनाल का आयात किया जाता रहा है। अब प्रदेश में खुद ही 10 लाख लीटर सालाना एथेनाल के उत्पादन किया जाएगा। मंत्रिपरिषद ने विधानसभा सत्र में पेश होने वाले प्रस्तावों पर विचार व क्रियान्वन के लिए एक समिति गठित की है। संसदीय कार्य व वित्त मंत्री सुरेश खन्ना के नेतृत्व में गठित समिति में मंत्रि बेबीरानी मौर्य व योगेंद उपाध्याय सदस्य बनाये गए हैं।

लोक निर्माण विभाग की सड़कों के रखरखाव को लेकर एक अहम प्रस्ताव

लोक निर्माण विभाग की सड़कों के रखरखाव को लेकर एक अहम प्रस्ताव को मंत्रिपरिषद ने मंजूरी दी है। अब प्रदेश में लोक निर्माण विभाग के पास सड़के बनाने के साथ ही अगले पांच साल तक उनके रख रखाव की व्यवस्था होगी। इसके लिए सड़क निर्माण की लागत में ही 10 फीसदी रख ?खाव का खर्च शामिल किया जाएगा। गौरतलब है कि लोक निर्माण विभाग की सड़कों के रख रखाव के लिए हर साल अलग से बजट में प्रावधान किया जाता है। नयी व्यवस्था में रखरखाव के लिए धनराशि की दिक्कत नहीं आएगी।

शिक्षा विभाग में कार्यरत 27500 अंशकालिक अनुदेशकों का वेतन बढ़ा

एक अन्य प्रस्ताव में मंत्रिपरिषद ने बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत 27500 अंशकालिक अनुदेशकों के वेतन बढ़ाना मंजूर किया है। अंशकालिक अनुदेशको को दिया जाने वाले मानदेय अब 7000 रुपये से बढ़कर 9000 रुपये हो जाएगा। इसी तरह सरकारी स्कूलो मे मिड जे मील बनाने वाले रसोईयों का वेतन बढ़ाने के प्रसातन को मंजूरी दी गयी है। प्रदेश के विभिन्न सरकारी स्कूलों में काम कर रहे 3.77 लाख रसोईयों को अब 1500 रुपये की जगह 2000 रुपये मासिक मानदेय दिया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने विधानसभा चुनावों के लिए पेश किए गए अपने संकल्प पत्र में रसोईयों व अनुदेशकों का वेतन बढ़ाने का वादा किया था।

16 नवंबर 2021 को हुआ था पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन

मंत्रिपरिषद ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे चलने वाले वाहनों से टोल टैक्स वसूलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन बीते साल 16 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। तब से इस एक्सप्रेस वे पर चलने वालों को किसी तरह का शुल्क नहीं देना पड़ रहा था। मंगलवार को मंत्रिपिरषद से पारित प्रस्ताव के मुताबिक पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर टोल टैक्स वसूलने के लिए एजेंसी का चयन किया जाएगा। एक्सप्रेस वे पर प्रवेश व निकास पर टोल टैक्स नाके बनाए गए हैं।

लखनऊ : मरीजों के तीमारदारों के ठहरने के लिए जमीन पर भी मुहर

मंत्रिपरिषद ने राजधानी लखनऊ में संजय गांधी पोस्ट ग्रैजुयेट इंस्टीट्यूट (एसजीपीजीआई) के करीब मरीजों के तीमारदारों के ठहरने के लिए जमीन देने के प्रस्ताव पर भी मुहर लगायी है। प्रस्ताव के मुताबिक लखनऊ में पीजीआई के सामने सिंचाई विभाग की 5393 वर्गमीटर जमीन तीमारदारों के ठहरने को भवन बनाने के लिए चिकित्सा शिक्षा विभाग के हस्तांतरित की जाएगा।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

ये भी पढ़ें : Unique Revenge of Serpent Snake in Uttar Pradesh Rampur उत्तर प्रदेश रामपुर में नागिन सांप का अनोखा बदला

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular