होम / New Credit Rules: बिलिंग और  रीपेमेंट नियमों में बदलाव, जानें  RBI के नए गाइडलाइन

New Credit Rules: बिलिंग और  रीपेमेंट नियमों में बदलाव, जानें  RBI के नए गाइडलाइन

Reepu kumari • LAST UPDATED : March 31, 2024, 11:53 am IST

India News (इंडिया न्यूज), New Credit Rules: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ग्राहकों को उनके बिलिंग चक्र के संबंध में अधिक लचीलापन प्रदान करते हुए क्रेडिट कार्ड को नियंत्रित करने वाले नियमों में बदलाव किए हैं। यह नया नियम क्रेडिट कार्डधारकों को अपनी सुविधा के अनुसार अपने बिलिंग चक्र को कई बार समायोजित करने की अनुमति देता है, जो बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा लगाए गए एकल परिवर्तन की पिछली सीमा से हटकर है।

बिलिंग चक्र में परिवर्तन इस लचीलेपन का लाभ उठाने के लिए, ग्राहकों को पहले अपने क्रेडिट कार्ड पर किसी भी बकाया राशि का भुगतान करना होगा। एक बार यह शर्त पूरी हो जाने पर, वे अपने संबंधित बैंकों द्वारा पेश किए गए फोन, ईमेल या मोबाइल ऐप सहित विभिन्न चैनलों के माध्यम से अपने बिलिंग चक्र को बदलने का अनुरोध शुरू कर सकते हैं।यह सुव्यवस्थित प्रक्रिया सुनिश्चित करती है कि ग्राहक अपनी वित्तीय आवश्यकताओं के अनुरूप अपने बिलिंग चक्र को आसानी से अनुकूलित कर सकें।

नए क्रेडिट कार्ड नियम के लाभ बिलिंग चक्र को संशोधित करने की क्षमता क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को कई लाभ प्रदान करती है।

कई लाभ

सबसे पहले, यह उन्हें बिल भुगतान की तारीख चुनने का अधिकार देता है जो उनके नकदी प्रवाह के साथ संरेखित होती है और समय पर भुगतान सुनिश्चित करती है। इसके अतिरिक्त, बिलिंग चक्र को रणनीतिक रूप से समायोजित करके, ग्राहक अपने क्रेडिट कार्ड पर ब्याज-मुक्त अवधि को अधिकतम कर सकते हैं, जिससे उनका वित्तीय प्रबंधन अनुकूलित हो सकता है। इसके अलावा, नया लचीलापन व्यक्तियों को उनके वित्तीय दायित्वों को सरल बनाते हुए, कई क्रेडिट कार्डों में बिल भुगतान को सिंक्रनाइज़ करने की अनुमति देता है।

बिलिंग चक्र

बिलिंग चक्र को समझना क्रेडिट कार्ड का बिलिंग चक्र आम तौर पर एक महीने की 7 तारीख से अगले महीने की 6 तारीख तक होता है। इस अवधि के दौरान, क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके किए गए सभी लेनदेन को एक विवरण में संकलित किया जाता है, जो कार्डधारक को जारी किया जाता है। क्रेडिट कार्ड प्रदाता और कार्ड के प्रकार के आधार पर, बिलिंग चक्र 27 से 31 दिनों तक हो सकता है।

नए क्रेडिट नियम

नए क्रेडिट नियम और ग्राहकों पर प्रभाव पहले, क्रेडिट कार्ड कंपनियां प्रत्येक कार्डधारक के लिए बिलिंग चक्र का एकतरफा निर्धारण करती थीं, जिससे अक्सर ग्राहकों को असुविधा होती थी। हालाँकि, आरबीआई द्वारा संशोधित नियम के साथ, ग्राहकों को अब अपनी प्राथमिकताओं और वित्तीय दायित्वों के अनुरूप अपने बिलिंग चक्र को कई बार समायोजित करने की स्वायत्तता है। यह नया लचीलापन ग्राहकों की संतुष्टि को बढ़ाता है और आसान क्रेडिट कार्ड प्रबंधन की सुविधा प्रदान करता है।

BHU Recruitment: बनारस हिंदू विश्वविद्यालय नर्सिंग ऑफिसर भर्ती परीक्षा 2024 का शेड्यूल जारी, जाने ताजा अपडेट

नुकसान से बचना नया नियम क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं के लिए एक अनुस्मारक के रूप में भी काम करता है कि वे अपने बिलों पर केवल न्यूनतम देय राशि का भुगतान करने से बचें। न्यूनतम भुगतान का विकल्प चुनने से न केवल बकाया राशि पर ब्याज लगता है, बल्कि बाद के लेनदेन पर ब्याज-मुक्त अवधि भी समाप्त हो जाती है। इन जोखिमों को कम करने के लिए, वित्तीय विशेषज्ञ नियत तारीख तक पूरे क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान करने की सलाह देते हैं।

PM Modi Popularity: सबसे लोकप्रिय नेता कैसे बने पीएम नरेंद्र मोदी, इस नामी मैग्जीन ने बताए तीन कारण

बिल भुगतान तिथि पर प्रभाव बिलिंग चक्र को बदलने से क्रेडिट कार्ड बिल भुगतान की देय तिथि में तदनुरूपी समायोजन भी शामिल होता है। यह संशोधित देय तिथि आम तौर पर विवरण तिथि से 15 से 20 दिनों के बीच आती है, जिससे ग्राहकों को 45 से 50 दिनों की विस्तारित ब्याज-मुक्त अवधि मिलती है। इस समय सीमा के भीतर, ग्राहक बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के अपने क्रेडिट कार्ड बिलों का निपटान कर सकते हैं, जिससे जिम्मेदार वित्तीय प्रबंधन को बढ़ावा मिलेगा।

(Disclaimer: उपरोक्त लेख केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है, और इसे किसी निवेश सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। इंडिया न्यूज अपने पाठकों/दर्शकों को धन संबंधी कोई भी निर्णय लेने से पहले अपने वित्तीय सलाहकारों से परामर्श करने का सुझाव देता है।)

लेटेस्ट खबरें

Prince Harry: आखिरकार प्रिंस हैरी ने ब्रिटेन से बदला अपना निवास स्थान, जानें किस देश का ले रहे नागरिकता
PM Modis letter: ‘कोई सामान्य चुनाव नहीं’, पीएम मोदी का पहले चरण से पहले बीजेपी समेत एनडीए उम्मीदवारों को पत्र
IPL 2024 Points Table: दिल्ली की गुजरात पर जीत से अंक तलिखा में बड़ा फेरबदल, जानें ताज़ा अपडेट
Turkey-Hamas Relations: इजरायल के साथ युद्ध के बीच हमास प्रमुख करेंगे तुर्की का दौरा, तुर्की के राष्ट्रपति ने दी जानकारी
US-Italy Relations: अमेरिका-इटली आए एक साथ, गलत सूचना के प्रसार को रोकने के लिए साथ में करेंगे काम
NABARD Recruitment 2024: NABARD में निकला जॉब करने का सुनहरा मौका, 100000 की सैलरी वाली नौकरी के लिए यहां करें आवेदन
Salman Khan Firing Case: बांद्रा में शूटिंग से कुछ घंटे पहले ही आरोपियों को दी गई थी बंदूक, सलमान खान केस में बड़ा खुलासा