होम / Kali river: दो देशों के बीच नदी बना बॉर्डर, जानिए नदी और जगह का नाम

Kali river: दो देशों के बीच नदी बना बॉर्डर, जानिए नदी और जगह का नाम

Rajesh kumar • LAST UPDATED : March 26, 2024, 7:00 pm IST

India News (इंडिया न्यूज़),Kali river: दो देशों के बीच की सीमा रेखा उन देशों को अलग करती है। लेकिन कुछ सीमाएँ हैं जो साझी विरासत हैं। आज हम बात कर रहे हैं एक ऐसी सीमा की जो दो देशों के बीच एक नदी के रूप में है और दोनों किनारों पर बसे शहरों को दो अलग-अलग देशों में बांटती है।

नदी का नाम

आपको बता दें कि भारत और नेपाल के बीच 1751 किमी लंबी सीमा है। पश्चिम में, नेपाल की सीमा भारतीय राज्य उत्तराखंड से, दक्षिण में उत्तर प्रदेश, बिहार से और पूर्व में पश्चिम बंगाल और सिक्किम से लगती है। आज हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड से लगती नेपाल सीमा की। यहां दोनों देशों के बीच की सीमा लिपुलेख दर्रे से आने वाली शारदा नदी से मिलती है। इस नदी को काली नदी के नाम से भी जाना जाता है।

एक शहर, दो देश: अब तक तो आप समझ ही गए होंगे कि हम किस शहर या कस्बे की बात कर रहे हैं। जी हां, आपने सही पहचाना। यहां हम धारचूला की ही बात कर रहे हैं। जिस शहर को भारत में धारचूला के नाम से जाना जाता है, उसे नेपाल में दार्चुला कहा जाता है।

नेपाल में दार्चुला नाम का एक पूरा जिला है। दोत्याली भाषा में दार का मतलब पर्वत शिखर होता है, जबकि चुला का मतलब चूल्हा या चूल्हा होता है। इस क्षेत्र में अधिकांश लोग तीन पत्थर के चूल्हे का उपयोग करते हैं। पौराणिक कथा के अनुसार व्यास ऋषि ने यहां तीन पहाड़ों पर चूल्हा बनाकर भोजन पकाया था। पहले यह कुमाऊँ (भारत) का हिस्सा था, लेकिन बाद में गोरखा आक्रमण के दौरान इसे नेपाल में मिला लिया गया।

भारत का धारचूला

भारत में धारचूला, उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले का हिस्सा है। यह शहर कैलाश-मानसरोवर यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों के लिए एक प्रमुख शहर है, क्योंकि यह मार्ग पर अंतिम सबसे बड़ा शहर है। स्थानीय लोग नेपाल जाने के लिए दिन में कई बार काली नदी पार करते हैं और इसी तरह नेपाल के लोग भी इस ओर आते-जाते रहते हैं। यहां आपको कुमाऊंनी और शौना (भोटिया) जाति के लोगों और उनकी संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी। यहां आने वाले पर्यटक अपनी संस्कृति से रूबरू हो सकते हैं।

धारचूला में कई प्रकार के फल होते हैं। यहां हिरण, भालू, लोमड़ी और तेंदुए जैसे जंगली जानवर भी बड़ी संख्या में देखे जाते हैं। यहां आने वाले पर्यटक नारायण आश्रम, मानसरोवर झील, छिरकिला बांध, जौलजीबी, काली नदी और ओम पर्वत देखने की इच्छा से यहां आते हैं।

यह भी पढ़ेंः-

Holi Colour Removing Tips: इस तरह से छुड़ाए होली के पक्के रंग, जानें ये अनोखेें तरीके

लेटेस्ट खबरें

Prince Harry: आखिरकार प्रिंस हैरी ने ब्रिटेन से बदला अपना निवास स्थान, जानें किस देश का ले रहे नागरिकता
PM Modis letter: ‘कोई सामान्य चुनाव नहीं’, पीएम मोदी का पहले चरण से पहले बीजेपी समेत एनडीए उम्मीदवारों को पत्र
IPL 2024 Points Table: दिल्ली की गुजरात पर जीत से अंक तलिखा में बड़ा फेरबदल, जानें ताज़ा अपडेट
Turkey-Hamas Relations: इजरायल के साथ युद्ध के बीच हमास प्रमुख करेंगे तुर्की का दौरा, तुर्की के राष्ट्रपति ने दी जानकारी
US-Italy Relations: अमेरिका-इटली आए एक साथ, गलत सूचना के प्रसार को रोकने के लिए साथ में करेंगे काम
NABARD Recruitment 2024: NABARD में निकला जॉब करने का सुनहरा मौका, 100000 की सैलरी वाली नौकरी के लिए यहां करें आवेदन
Salman Khan Firing Case: बांद्रा में शूटिंग से कुछ घंटे पहले ही आरोपियों को दी गई थी बंदूक, सलमान खान केस में बड़ा खुलासा