Friday, December 3, 2021
HomeHealth TipsHow To Stay Fit Mentally And Physically मानसिक और शारीरिक रूप से...

How To Stay Fit Mentally And Physically मानसिक और शारीरिक रूप से कैसे रहे फिट

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:

How To Stay Fit Mentally And Physically: खराब सेहत के साथ आप जिंदगी का मजा नही ले सकते। सेहत खराब होने से शारीरिक और मानसिक ऊर्जा कम होती है, इसका असर सबसे ज्यादा दिमाग पर पड़ता है। काम करने की रफ्तार कम होती चली जाती है। मन और शरीर एक-दूसरे से जुड़े होते हैं।

जब हमारे मन में कोई विचार आता है, तो हमारे तंत्रिका तंत्र में कई तरह की प्रतिक्रियाएं होने लगती हैं, जो हमारे पूरे शरीर प्रभावित करती हैं। जब हम संतुलित जीवनशैली में होते हैं, तो शरीर की ज्यादा सुनते हैं। प्यार, खुशियां, सहयोगी भावनाएं आदि सकारात्मकता बनी रहती है।

मेडिटेशन है स्वास्थ्य के लिए जरुरी (How To Stay Fit Mentally And Physically)

यदि आप ज्यादा समय तक स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो शरीर और दिमाग को संतुलित रखना होगा। इसके लिए मेडिटेशन सबसे कारगर साबित हो सकता है। मेडिटेशन करने से तन-मन को सुकून की प्राप्ति होती है। दिमाग पूरी तरह से रिलैक्स होता है। मेडिटेशन करने के समय शरीर आराम की मुद्रा में होता है।

मस्तिष्क में बाहरी विचारों, ख्यालों से दूरी बन जाती है। मेडिटेशन करने के लिए आप किसी शांत और एकांत जगह का चुनाव करें। इससे पूरे शरीर की हीलिंग होती है। यदि आप लगातार 8-9 सप्ताह मेडिटेशन करते हैं, तो आपको खुद शांति महसूस होगी।

हेल्दी डाइट है स्वास्थ्य के लिए जरुरी (How To Stay Fit Mentally And Physically)

आप अपनी डाइट में नियमित रूप से आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां, मसाले, रंग-बिरंगे फल और सब्जियों को शामिल करें। पोषक तत्वों को डाइट में शामिल करने से, शरीर और मन को स्वस्थ रखने में मदद मिलती हैं। शरीर को भरपूर पोषण तभी प्राप्त होगा, जब खाने में हेल्दी चीजें शामिल होंगी। फ्रिज में दो दिन रखी पुरानी चीजों का सेवन ना करें।

एक ही भोजन को बार-बार माइक्रोवेव में गर्म करके खाने से बचें। बाहर का खाना, डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ, जंक फूड का सेवन बेहद नुकसानदायक है। ये सभी शरीर में वसा, चर्बी बढ़ा सकते हैं, जिससे कई तरह की बीमारियों के होने का खतरा बढ़ सकता है।

गलत विचारों को मन में न आने दें (How To Stay Fit Mentally And Physically)

अधिकतर लोग बीते हुए वक्त की निराशाओ और दबे हुए गुस्से से कई विशैली भावनाओं को पनाह देते हैं। आप अपने आप से सवाल करके- बीत चुके जीवन की ऐसी गैरजरूरी भावनाएं मैंने क्यों पकड़कर रखी हैं, जो मेरा वर्तमान खराब कर रही हैं? जब आप यह पहचान जाएंगे कि कौन-सी भावनाएं दूर करनी हैं।

अगर इसके लिए आपको किसी की मदद की जरूरत हैं, तो वह भी लें। वैसे भी दुख बांटने से कम ही होते हैं। अपने भावनात्मक दुख को दूर करें और देखिए कि शारीरिक सुख किस तरह बढ़ता है। इसके बाद अपने जीवन को प्यार, आत्म सम्मान जैसी सुखद भावनाओं से भरें।

7-8 घंटे की नींद है प्रॉपर नींद है जरुरी (How To Stay Fit Mentally And Physically)

आजकल काम के प्रेशर के कारण लोग प्रॉपर नींद नही लेते, जिसके कारण कई तरह की बीमारिया शरीर को घेर लेती है। स्वस्थ रहने के लिए 7-8 घंटे की पूरी नींद लेना शुरू कर दें।

आप हर काम को फ्रेश मूड से कर सकेंगे। नींद पूरी नहीं होने पर आप दिनभर थके महसूस करेंगे। मन भी चिड़चिड़ा रहेगा। ऐसे में शारीरिक और मानसिक रूप से ही आप बीमार हो जाएंगे। कम नींद लेने से इम्यूनिटी भी प्रभावित होती है।

Read also :- Laughter Is The Best Medicine हँसने से हो सकते है, यह फायदे 

Read more : How To Make Sugar Icing At Home घर पर कैसे बनाएं शुगर आइसिंग, और शक्कर से जुड़े आसान ट्रिक्स

Read more : What Is The Right Time To Drink Coconut Water नारियल पानी पीने का क्या है, सही समय

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE