होम / Char Dham Yatra: तीर्थयात्रियों की बढ़ती संख्या को लेकर उत्तराखंड सरकार ने लिया बड़ा फैसला, जारी किए ये निर्देश-Indianews

Char Dham Yatra: तीर्थयात्रियों की बढ़ती संख्या को लेकर उत्तराखंड सरकार ने लिया बड़ा फैसला, जारी किए ये निर्देश-Indianews

Shalu Mishra • LAST UPDATED : May 17, 2024, 7:41 am IST

India News(इंडिया न्यूज), Char Dham Yatra: हिंदू धर्म के अनुसार चार धाम की यात्रा को सर्वोपरि माना गया है। इन्हीं धामों में आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए उत्तराखंड सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। उत्तराखंड सरकार ने गुरुवार को चार धाम मंदिरों में वीआईपी दर्शन की अनुमति नहीं देने का फैसला किया और तीर्थयात्रियों की बढ़ती संख्या के बीच मंदिरों के 50 मीटर के दायरे में वीडियोग्राफी और सोशल मीडिया रील बनाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। आइए बताते हैं क्या है पूरा मामला..

उत्तराखंड सरकार ने जारी किए निर्देश 

सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में अपने समकक्षों को लिखे पत्र में, मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने कहा, कि “मैं सूचित करना चाहूंगी कि इस वर्ष, उत्तराखंड में पवित्र चार धाम की यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। बेहतर प्रबंधन के लिए, हमने 31 मई, 2024 तक कोई भी ‘वीआईपी दर्शन’ नहीं करने का फैसला किया है। आपको बता दें कि इस साल चार धाम की यात्रा शुरु हो गई हैं और इसके लिए उत्तराखंड सरकार ने निर्देश जारी किए हैं।

Lok Sabha Election 2024: पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा ने दिया भाजपा को समर्थन-Indianews

चार धाम यात्रा सुचारू रूप से संचालित हो रही है। तीर्थयात्रियों को व्यवस्थित दर्शन सुनिश्चित कराने के लिए व्यवस्था की गई है, लेकिन वर्तमान में यह देखा गया है कि मंदिर परिसर में सोशल मीडिया के लिए वीडियोग्राफी/रील की व्यवस्था की जा रही है, जिसके कारण भीड़ एक स्थान पर इकट्ठा हो जाती है और भक्तों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए, भक्तों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए, चार धाम में मंदिर परिसर के 50 मीटर के दायरे में सोशल मीडिया के लिए वीडियोग्राफी/रील बनाना पूरी तरह से प्रतिबंधित है, ”पत्र में आगे कहा गया है।

रील बनाना है अपराध 

इससे पहले रतूड़ी ने कहा था कि चार धाम तीर्थस्थलों के 200 मीटर के दायरे में मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन उन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करेगा जो चार धाम यात्रा के बारे में रील बनाते और गलत सूचना फैलाते हुए पकड़े जाएंगे। “भ्रामक जानकारी के साथ रील बनाना एक अपराध है। अगर आप आस्था के साथ यात्रा पर जा रहे हैं तो मंदिरों के पास रील बनाना गलत है।

 Pune: पुणे के पास तेज हवाओं के कारण कई वाहनों पर गिरा बिलबोर्ड-Indianews

दिशा निर्देशों का करें पालन 

चार धाम यात्रा 10 मई को शुरू हुई थी। तीर्थयात्रा के पहले छह दिनों में, बुधवार तक देश-विदेश से 3,34,732 लोग पूजा-अर्चना के लिए तीर्थस्थलों पर आ चुके हैं। यात्रा के लिए पंजीकरण 25 अप्रैल से शुरू हुआ था और गुरुवार शाम तक 270,000 से अधिक श्रद्धालु इसके लिए पंजीकरण करा चुके थे। 30 अप्रैल को अन्य राज्यों के मुख्य सचिवों को लिखे एक अन्य पत्र में, मुख्य सचिव ने कहा, “चिकित्सा इतिहास वाले बुजुर्ग श्रद्धालुओं को यात्रा पर निकलने से पहले अपना परीक्षण करवाना चाहिए और उत्तराखंड के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए।”

Tags:

Get Current Updates on News India, India News, News India sports, News India Health along with News India Entertainment, India Lok Sabha Election and Headlines from India and around the world.

ADVERTISEMENT

लेटेस्ट खबरें

Bengaluru: बेंगलुरु-मैसूर एक्सप्रेसवे पर कार-ट्रक की टक्कर, 2 छात्रों की मौत -IndiaNews
Aaj ka Rashifal: तुला, कुंभ राशि वाले आज रहें सावधान, रविवार को इन लोगों की चमक सकती है क़िस्मत-Indianews
Thane Accident: महाराष्ट्र हाउसिंग कॉम्प्लेक्स की दीवार से टकराया ट्रक, 1 की मौत, 6 घायल -IndiaNews
Hijab Ban in College: कॉलेज में हिजाब बैन के खिलाफ छात्राओं ने बॉम्बे HC का खटखटाया दरवाजा, जानें पूरा मामला-Indianews
Switzerland Peace Summit: अमेरिका का बड़ा ऐलान, यूक्रेन को देगा 1.5 बिलियन डॉलर की सहायता -IndiaNews
Online Betting: सट्टे का कर्ज चुकाने के लिए महिला की हत्या, पुलिस ने आरोपी व्यक्ति को किया गिरफ्तार -IndiaNews
Prerna Sthal: उपराष्ट्रपति आज करेंगे प्रेरणा स्थल का उद्घाटन, रखी जाएगी स्वतंत्रता सेनानियों की प्रतिमा -IndiaNews
ADVERTISEMENT