Saturday, November 27, 2021
HomeChandigarhED exposed the big scam of 600 crores ईडी ने 600 करोड़...

ED exposed the big scam of 600 crores ईडी ने 600 करोड़ के बड़े घोटाले का किया पर्दाफाश

अमित शर्मा, पंचकूला :
ED exposed the big scam of 600 crores :
हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने जैसे ही पिंजौर कालका अर्बन कॉम्प्लेक्स में सेक्टरों को बसाने का प्लान बनाया था, तो वैसे ही कई मल्टीनेशन कंपनियों की ओर से यहां अलग अलग प्रोजेक्ट्स लेकर आने की बात कही गई। प्लानिंग बनाई गई, लोगों को मेट्रो सिटी की तर्ज पर एक नई सिटी और बढ़िया आशियाना देने का वादा किया गया।

जिसके दम पर हरियाणा, पंजाब, हिमाचल और दिल्ली के रहने वाले सैकड़ों लोगों ने 600 करोड से ज्यादा रुपयों को इन्वेस्ट करवाया गया, लेकिन कई साल गुजरने के बाद ना तो लोगों को उनका आशियाना मिला और ना ही रुपए वापिस। जिसके चलते कई स्टेट्स में पुलिस ने धोखाधडी के मामलें दर्ज किए, लेकिन मामला कई सौ करोड़ और सैकड़ों लोगों से जुडा होने के कारण अब इन्फोर्समेंट डिपार्टमेंट ने इस मामलें में जांच शुरू कर दी है।

कंपनी के डायरेक्टर को गिरफ्तार किया ED exposed the big scam of 600 crores

ईडी ने आईआरईओ कंपनी के डायरेक्टर को 600 करोड़ के स्कैम के मामले में गिरफ्तार किया है। आरोपी ललित गोयल को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया है वह हिंदुस्तान से बाहर जाने की फिराक में था। असल में ईडी को इस मामले में शिकायत मिली थी ।

जिसके बाद दिल्ली स्थित हेड आफिस से अक्टूबर महीने में डायरेक्शन जारी कर दी गई। ऐसे में डायरेक्श के बाद ईडी की ओर से आईआरईओ कंपनी से जुड़े दस्तावेजों को जुटाना शुरू किया। लिहाजा डिपार्टमेंट की जांच में कई लोगों को नोटिस जारी किए गए। जिसके बाद डायरेक्टर ललित गोयल को भी जांच में शामिल होने के लिए कहा गया ।

ऐसे में गोयल की ओर से शुरू में तो जांच में अपनी ओर से योगदान दिया गया, लेकिन उसके बाद वो जांच में शामिल होने के लिए ही नहीं पहुंचे। ऐसे में अब ईडी की ओर से गुरुग्राम निवासी ललित गोयल को गिरफ्तार किया गया। ED exposed the big scam of 600 crores

11 हजार एकड़ जमीन को एक्वायर करने की बनी थी प्लानिंग ED exposed the big scam of 600 crores

हरियाणा में पंचकूला का अपने आप में खास महत्व है, क्योंकि यह शहर प्रदूषण के मामले सबसे सुरक्षित है और इसके साथ-साथ हिमाचल और चंडीगढ़ के नजदीक है। ऐसे में बाहरी लोगों की ओर से यहां आशियाना बनाने का मन रहता है। इसी बात को देखते हुए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की ओर से यहां पिंजौर कालका अर्बन कॉम्प्लेक्स बसाने की प्लानिंग बनाई गई। ED exposed the big scam of 600 crores

जिसके लिए 11 हजार एकड़ जमीन को एक्वायर करने की प्लानिंग बनी, जिसके बाद यहां प्राइवेट बिल्डर और कंपनियों की ओर से इन्वेस्टमेंट करने की बात सामने आई थी। ऐसे में सरकार से परमिशन लेने के बाद यहां सैकड़ों एकड़ जमीन को एक्वायर किया गया था। ED exposed the big scam of 600 crores

सरकार ने दी थी प्राइवेट बिल्डर्स को परमिशन ED exposed the big scam of 600 crores

यहां पिंजौर कालका अर्बन काम्प्लेक्स में प्राइवेट कंपनियों की दिलचस्पी के बाद सरकार की ओर से कई प्राइवेट बिल्डरों को परमिशन दी गई थी। यहां डीएलएफ का प्रोजेक्ट सिरे चढ़ने के बाद लोगों को लगा, कि बाकी प्रोेजेक्ट जल्द बन जाएंगे। ऐसे में हरियाणा, पंजाब, हिमाचल, दिल्ली के लोगों ने यहां प्राइवेट कंपनियों में इन्वेस्ट किया था।

जिसके चलते यहां डीएलएफ की बैक साइड में बनने वाले सेक्टर 3,4, 4ए को बसाने के लिए आईआरईओ कंपनी की ओर से जमीन को लिया गया था। शुरू में लोगों में मेट्रो सिटी में बनने वाले हाऊसिंग प्रोजेक्ट के नक्शे दिखाए गए, बड़ी बड़ी बातें कही गई। ED exposed the big scam of 600 crores

इसके साथ ही लोगों को बड़ी-बड़ी सुविधाओं और लोगों की इन्वेस्टमेंट के बारे में बताया गया। ऐसे में लोगों का रूझान यहां बढ़ता चला गया। ऐसे में कंपनी की ओर से वर्ष 2010 के करीब भी भारी संख्या में इन्वेस्टमेंट के नाम पर करोड़ों रुपए जमा किए गए। ED exposed the big scam of 600 crores

तय समय सीमा में कंपनी ने काम नहीं किया ED exposed the big scam of 600 crores

असल में अंदर की कहानी ये है, कि जो परमिशन इस कंपनी को दी गई थी, उसमें एक तय समय सीमा थी, जिस पर इसके अधिकारियों की ओर से काम ही नहीं किया गया। ऐसे में लोगों के रुपए में खुद ऐश की गई, करीब 600 करोड़ से ज्यादा का ये स्कैम है, जिसमें लोगों के रुपयों को जमा करवाने के बाद उन्हें मकान, फ्लैट दिया ही नहीं गया।

ऐसे में लोगों की ओर से हरियाणा, दिल्ली सहित कई जगहों पर मामलें दर्ज करवाए गए थे। जिसके बाद मामला ईडी की नजर में आया, अब ईडी ने इस मामले में डायरेक्टर रहे ललित गोयल को गिरफ्तार किया हैै। ऐसे में अब बाकी पदाधिकारियों को भी गिरफ्तार किया जा सकता है।

सबसे बड़ी बात यह है, कि ईडी को इस कंपनी के अकाउंट से लेकर पद्दाधिकारियों के अकाउंट में कुछ कमियां मिली हैं। जिसके चलते संदेह बढ़ गया है। ऐसे में अब ललित को 23 नवंबर तक रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। सूत्रों की माने तो ईडी की ओर से जल्द ही बाकी पद्दाधिकारियों की भी गिरफ्तारी की जा सकती है।

Read More : Reshuffle in Rajasthan cabinet after 21 Nov जल्द होगा राजस्थान मंत्रिमंडल में फेरबदल-विस्तार

Read More : Top Class Marwari Breed Horse अलबक्श के खरीदार मौजूद है लेकिन मालिक बेचने को तैयार नहीं

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE