Tuesday, January 18, 2022
HomeNationalFirst Time In India देश में बौने व्यक्ति को पहली बार मिला...

First Time In India देश में बौने व्यक्ति को पहली बार मिला ड्राइविंग लाइसेंस

इंडिया न्यूज, हैदराबाद:

First Time In India देश में पहली बार किसी बौने आदमी को ड्राइविंग लाइसेंस दिया है। आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद के रहने वाले गट्टीपल्ली शिवपाल को काफी मेहनत के बाद लाइसेंस मिला है। इसके लिए लिम्का बुक आफ रिर्कार्ड में उनका नाम दर्ज हो गया है। अब शिवपाल के कद के लोग ड्राइविंग सीखने के लिए उनसे कंटेक्ट कर रहे हैं और वह अब ड्राइविंग स्कूल खोलने पर विचार कर रहे हैं।

Read More : Mark Zuckerberg Success Story in Hindi ऐसे शुरू हुआ मार्क जुकरबर्ग की जिंदगी का सफर

शिवपाल की 42 वर्ष उम्र और तीन फुट है लंबाई (First Time In India)

गट्टीपल्ली शिवपाल की लंबाई तीन फुट है और उम्र 42 वर्ष है। शिवपाल ने वर्ष 2004 में अपनी डिग्री पूरी की और अपने जिले में दिव्यांग के रूप में डिग्री पूरी करने वाले वह पहले व्यक्ति बन गए थे। ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने के शिवपाल को काफी परिशानियां झेलनी पड़ी। उनके कद को लेकर लोग उनका मजाक भी उड़ाते थे, लेकिन अब शिवपाल ने ऐसे लोगों की जुबान पर लगाम लगा दी है।

Read More : Haryana Success Story सप्ताहांत सिर्फ दो दिन पढ़कर IAS बनी हैं महेंद्रगढ़ की देवयानी

जानिए क्या कहते हैं शिवपाल (First Time In India)

शिवपाल का कहना है कि उनके कद के कारण लोग उन्हें बहुत चिढ़ाते थे। उन्होंने कहा, आज मैं द लिम्का बुक आॅफ रिकार्ड्स व कई अन्य रिकार्ड बुक्स में नाम दर्ज करा चुका हूं। ड्राइविंग प्रशिक्षण के लिए बहुत से छोटे लोग मुझसे संपर्क कर रहे हैं और मैंने अब दिव्यांगों के लिए ड्राइविंग स्कूल शुरू करने का फैसला किया है। अगले साल स्कूल शुरू करूंगा।

अमेरिका में व्यक्ति को देखकर हुए प्रेरित (First Time In India)

शिवपाल गाड़ी चलाने के लिए अमेरिका में एक बौने व्यक्ति को कार चलाते हुए देखकर प्रेरित हुए। मैकेनिक्स को समझने के लिए उन्होंने अमेरिका की यात्रा भी की। जब उन्हें लगा कि वह कार चला सकते हैं तो वह हैदराबाद में एक ऐसे व्यक्ति से मिले जो कारों को कस्टमाइज करता है। इसके बाद उन्होंने अपनी कार कस्टमाइज करवाई। (First Time In India) 

फिर ड्राइविंग सीखना उनके बहुत कठिन रहा। इसका कारण यह कि शहर के 120 से अधिक ड्राइविंग स्कूलों ने कई कारणों का हवाला देते हुए उन्हें कार सिखाने से इनकार कर दिया था। आखिर इस काम में उनका दोस्त काम आया। अब वह अपनी पत्नी को गाड़ी चलाना सिखा रहे हैं। (First Time In India) 

Read More : Yorker King Jasprit Bumrah Success Story जसप्रीत बुमराह कैसे बनें यॉर्कर किंग

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE