Wednesday, January 26, 2022
HomeRaajneetiUP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022: कोविड प्रोटोकॉल लागू, 15 जनवरी तक...

UP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022: कोविड प्रोटोकॉल लागू, 15 जनवरी तक रैली और रोड शो पर रोक

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
UP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022: चुनाव आयोग ने बीते कल (शनिवार) देश के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा (विस) चुनाव की तारीखों का ऐलान (10 फरवरी 2022 से 7 मार्च 2022 तक) कर दिया है, जिसमें (five states election) उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर शामिल हैं। पांचों राज्यों के चुनाव सात चरणों में होंगे और सभी राज्यों के नतीजे 10 मार्च को आएंगे।

(vidhan sabha chunav) आपको बता दें कि इस बार का चुनाव हर बार से अलग होगा। कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा का कहना है कि कोरोना प्रोटोकॉल के साथ चुनाव करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि 15 जनवरी तक कोई रोड शो, पद यात्रा, साईकिल रैली या फिजिकल रैली नहीं होगी। पोलिंग बूथ पर भीड़ कम हो, इसके लिए चुनाव के समय को एक घंटा बढ़ा दिया गया है। (COVID 19) Guidelines And Advisory)

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग में जितने भी अधिकारी या मतदानकर्मी होंगे सभी फुली वैक्सीनेटेड होंगे. जो अधिकारी वैक्सीनेटेड नहीं होंगे उन्हें चुनाव में ड्यूटी नहीं दी जाएगी, साथ ही पोलिंग बूथ पर मास्क, सेनिटाइजर, थर्मल स्कैनिंग आदि की व्यवस्था रहेगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि देश में पांच राज्यों के 690 विस क्षेत्रों में चुनाव कराए जाएंगे। 18.34 करोड़ मतदाता मतदान में हिस्सा लेंगे। कोरोना के बीच चुनाव कराने के लिए नया प्रोटोकॉल लागू किया गया है। आइए जानते हैं चुनाव आयोग का नया प्रोटोकॉल क्या है।

क्या है नया प्रोटोकॉल? (UP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022)

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि चुनाव के दौरान हमारी सुरक्षा सबसे जरूरी है। टीकाकरण अभियान तेज किया जा रहा है। सभी चुनावकर्मियों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगी होना जरूरी है। वर्चुअल रैली के जरिए चुनाव प्रचार होगा। घर-घर प्रचार के लिए केवल पांच लोग जा सकेंगे। हर रैली से पहले उम्मीदवार से शपथ-पत्र लिया जाएगा।

15 जनवरी तक किसी तरह की रैली, रोड शो और पदयात्रा नहीं होगी। नुक्कड़ सभा, बाइक रैली पर भी रोक रहेगी। प्रत्याशी जीत के बाद विजय जुलूस नहीं निकाल सकेंगे। कोविड नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ महामारी एक्ट, एनडीएमए और आईपीसी के धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी। 80 प्लस आयु वाले वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांगों और कोरोनावायरस से प्रभावित लोगों को घर से वोट करने की सुविधा मिलेगी।

UP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022

क्या होगी मतदान केंद्र पर व्यवस्था?  (UP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022)

  • मतदान से एक दिन पहले मतदान केंद्र को सैनिटाइज किया जाना अनिवार्य है। सभी मतदान केंद्र के एंट्री पॉइंट पर वोटर्स की थर्मल चेकिंग की जाएगी। ये काम पैरा मेडिकल स्टाफ या आशा वर्कर की ओर से किया जाएगा। हेल्प डेस्क की ओर से पहले आओ पहले पाओ के आधार पर मतदाताओं को टोकन दिए जाएंगे। इससे वोटर्स को लाइन में लगकर इंतजार नहीं करना होगा।
  • वोटिंग लाइन में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मार्क लगाए जाएंगे। लाइन में वोटर्स को दो गज (छह फीट) की दूरी का ध्यान रखना होगा। पुरुष, महिला और पीडब्ल्यूडी /सीनियर सिटिजन के लिए तीन लाइन लगाई जाएंगी। वोटर्स के बीच सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने जैसी चीजों की कड़ी निगरानी के लिए बीओएलएस और स्वयंसेवकों की ड्यूटी लगाई जा सकती है।
  • मतदान केंद्र के वेटिंग एरिया में पुरुष और महिला को अलग-अलग कुर्सियां, दरी जी जाएंगी। सभी को छाया मिले इसके लिए शेड्स लगाए जाएंगे। यदि कोई इलेक्टर फेस मास्क भूल जाता है तब उनके लिए रिजर्व मास्क रखे जाएंगे। जिस जगह की विजिबिलिटी ज्यादा होगी वहां पर कोविड पर अवेयर करने के लिए पोस्टर लगाए जाएंगे।
  • यदि पोलिंग एजेंट या काउंटिंग एजेंट का तापमान निर्धारित सीमा से अधिक है, तो उनके रिलीवर की अनुमति पीठासीन अधिकारी की ओर से दी जाएगी, जो उसका रिकॉर्ड रखेगा। मतदाता की पहचान की प्रक्रिया के दौरान आवश्यकता पड़ने पर उसे अपने चेहरे से मास्क हटाना पड़ सकता है।
  • मतदाता को मतदाता रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने और ईवीएम का बटन दबाने के लिए हाथ के दस्ताने उपलब्ध कराए जाएंगे। कोविड मरीज और क्वारेंटाइन लोग मतदान वाले दिन के आखिरी घंटे में अपने संबंधित मतदान केंद्रों पर मतदान कर पाएंगे। ये काम स्वास्थ्य अधिकारियों की देखरेख में किया जाएगा।

चुनाव आयोग के तीन ऐप एक्टिव रहेंगे (UP Punjab Uttarakhand Assembly Elections 2022)

  • ‘सुविधा कैंडिडेट’ ऐप सक्रिय रहेगा। ये राजनीतिक दलों के लिए है। उन्हें किसी दफ्तर में जाकर रैली वगैरह के लिए इजाजत नहीं मांगनी होगी। वे इस ऐप के जरिए उपलब्धता देख सकेंगे।
  • ‘सिविजिल’ ऐप से चुनाव के दौरान होने वाली गड़बड़ी की फोटो खींचकर या वीडियो बनाकर ऐप पर अपलोड किया जा सकेगा। सौ मिनट के अंदर चुनाव आयोग इस पर एक्शन लेगा।
  • आपराधिक पृष्ठभूमि वाले सभी उम्मीदवारों की जानकारी ‘क्नोव योर कैंडिडेट’ ऐप पर मिलेगी।

Read More : Assembly Elections पांच राज्यों में सात चरणों में होंगे 10 फरवरी से विधानसभा चुनाव 10 मार्च को आएगा रिजल्ट

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -
SHARE